हरीश रावत क्यों बोले, उत्तराखंड सरकार ने युवाओं के सपनों पर किया कुठाराघात; पौने पांच साल तक रहे सोए

 

 

 

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत अक्सर इंटरनेट मीडिया पर अपने बेबाकी से किए गए पोस्ट को लेकर चर्चा में रहते हैं। अब जब विधानसभा चुनाव नजदीक हैं तो एकबार फिर उन्होंने फिर उत्तराखंड सरकार को आड़े हाथ लिया है। हरीश रावत ने सरकार पर युवाओं के सपनों पर कुठाराघात करने का आरोप लगाया। हरीश रावत ने लिखा, 2015 के बाद छह साल बाद पुलिस की भर्ती विज्ञप्ति निकली है। उन्होंने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि पांच साल के लिए जनादेश मांगा और पौने पांच साल तक सोए रहे। इस दौरान उन्होंने अपने कार्यकाल का भी जिक्र किया और कहा कि मेरे कार्यकाल में 2014 और 2015 दोनों साल पुलिस भर्ती की विज्ञप्ति निकली थी।

Koo App

मेरे बेटे #आनन्द का संकल्प जारी है।2015 के बाद, 6 साल के बाद उत्तराखंड पुलिस की भर्ती की विज्ञप्ती निकली है। जनादेश माँगा 5 साल के लिए और पूरे पौने पाँच साल सोए रहे। मेरे कार्यकाल में 2014 और 2015, दोनों वर्ष उत्तराखंड पुलिस की भर्ती की विज्ञप्ती निकली थी। वाह रे डबल इंजन ? युवाओं के सपनों पर कुठाराघात कर दिया ? #uttarakhand

Harish Rawat (@harishrawatcmuk) 14 Jan 2022

उत्तराखंड की सियासत में हरीश रावत का एक अलग ही दबदबा देखने को मिलता है। वे इंटरनेट मीडिया पर बेबाकी से अपनी बात रखने के लिए भी बेहद मशहूर हैं। वो कभी अपनों पर ही तो कभी उत्तराखंड सरकार पर निशाना साधते हुए कई पोस्ट शेयर करते हैं। अब एक बार फिर हरीश रावत सरकार पर बरसते नजर आए हैं और इस बार मुद्दा पुलिस की भर्ती का है। दरअसल, हाल ही में पुलिस भर्ती के लिए विज्ञप्तियां निकाली गई हैं। इस पर ही हरीश रावत ने सोशल मीडिया एप कू पर पोस्ट पर राज्य सरकार पर निशाना साधा है। तो चलिए आपको बताते हैं कि उन्होंने क्या पोस्ट किया है…

दरअसल, पूर्व सीएम हरीश रावत के बेटे आनंद रावत अक्सर युवाओं को जागरूक करते हुए नजर आते हैं। वे न सिर्फ नशे के खिलाफ, बल्कि कई अन्य गतिविधियों को लेकर भी युवाओं के साथ खड़े रहते हैं। हरीश रावत ने पुलिस भर्ती को लेकर युवाओं के कैंप की एक वीडियो जारी करते हुए ये पोस्ट की, जिसमें उन्होंने मेरे बेटे आनंद का संकल्प जारी है लिखा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.