उत्तराखंड का दिन आज रहा भारी मिले 97 कोरोना मरीज, कुल संख्या पहुंची 1942

देहरादून : उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। मंगलवार को प्रदेश में 97 और कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इसके बाद अब प्रदेश में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1942 पहुंच चुका है। अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने इसकी पुष्टि की है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, अल्मोड़ा में 10 और देहरादून में 18 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। वहीं टिहरी में 14, हरिद्वार में 27, पिथौरागढ़ में सात, ऊधमसिंह नगर में आठ, उत्तरकाशी में पांच और नैनीताल दो व पौड़ी में छह संक्रमित मिले हैं। प्रदेश में अब तक 1194 संक्रमित मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। जबकि अभी भी 680 एक्टिव केस हैं।

हरिद्वार में प्रदेश के आधे से अधिक कंटेनमेंट जोन

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रदेश में कंटेनमेंट जोन की संख्या 83 पहुंच गई है। इसमें आधे से अधिक जोन हरिद्वार जिले में हैं। कंटेनमेंट जोन में आवश्यक सेवाओं को छोड़ कर सभी तरह की गतिविधियों पर पूरी तरह पाबंदी है। स्वास्थ्य विभाग की ओर रिपोर्ट के अनुसार देहरादून में 21, हरिद्वार में 48, टिहरी में 10, पौड़ी और ऊधमसिंह नगर जिले में 2-2 कंटेनमेंट जोन घोषित किए गए हैं। केंद्र सरकार की गाइडलाइन के आधार पर प्रदेश सरकार का अब कंटेनमेंट जोन पर फोकस हैं। कंटेनमेंट जोन में किसी तरह की कोई ढील नहीं है। आवश्यक सेवाओं को छोड़ कर बाकी सभी तरह की गतिविधियों और लोगों की आवाजाही बंद है।

उत्तराखंड में संक्रमण बढ़ा, सक्रिय मामले में आया ठहराव

उत्तराखंड में भले ही कोरोना संक्रमित मरीजों की तादाद रोजाना बढ़ रही है। लेकिन सक्रिय मामलों (एक्टिव केस) में ठहराव आया है। जिस तेजी के साथ संक्रमित मामले आ रहे हैं और मरीज ठीक हो रहे हैं। उससे सक्रिय मामले स्थिरता की ओर हैं। चंपावत जिले में कोरोना के मात्र तीन सक्रिय मामले हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1900 पार कर गया है। पिछले दो सप्ताह में ठीक होने वाले संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी आई है। इलाज के बाद घर लौटे मरीजों की संख्या 1200 पहुंचने वाली है। वहीं, सक्रिय मामले 680 हैं। वर्तमान में जिस गति से संक्रमित मामले आ रहे हैं, उसी गति से रोजाना संक्रमित मरीजों को अस्पताल से घर भेजा जा रहा है। अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत का कहना है कि संक्रमित मामले आने के बाद भी प्रदेश की रिकवरी और डबलिंग दर में सुधार हुआ है। रिकवरी दर बढ़ने से कोरोना के सक्रिय मामले स्थिरता की ओर हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.