UTTARAKHAND : भारतीय परम्‍परा के साथ विदेशी मेहमानो के स्‍वागत का गवाह बना पंतनगर एयरपोर्ट

रामनगर में आयोजित जी-20 समिट का आगाज हो गया है. 29 देशों के 56 डेलीगेट्स सबसे पहुंचे पंतनगर एयरपोर्ट पहुंचे. पंतनगर एयरपोर्ट पर डेलीगेट्स को उत्तराखंड की संस्कृति की झलक देखने को मिली, जिससे वो काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं. विदेशी मेहमानों ने पहाड़ी धुनों पर नृत्य भी किया. इस दौरान डेलीगेट्स को पहाड़ी टोपी और पिछौड़ा भेंट किया गया. यहां स्वागत के बाद सभी को लंच के लिए रुद्रपुर ले जाया गया. लंच के बाद रुद्रपुर से सभी डेलीगेट्स को रामनगर के लिए रवाना कर दिया गया है. शाम 5.30 से करीब डेलीगेट्स रामनगर पहुंचे.
भारतीय परम्‍परा के साथ विदेशी मेहमानो के स्‍वागत का गवाह बना पंतनगर एयरपोर्ट

रुद्रपुर (अनिल सती)। आखिरकार जी-20 सम्मेलन के इंतजार की घड़ियां अब खत्म हो गईं। 28 से 30 मार्च तक चलने वाले जी-20 समिट के लिए उत्‍तराखण्‍ड पहुंचने वाले मेहमान पंतनगर एयरपोर्ट पर मंगलवार को उतरे उनका स्‍वागत भारतीय परम्‍परा साथ किया गया जो उनको एक खुशनुमा अनु‍भूति दे गया। जी-20 समिट में शामिल होने के लिए 17 देशों से 38 प्रतिनिधि पहुंचे। उनके पहुंचने पर टीका लगाया गया और छोलिया नृत्य से उनका स्वागत किया गया। यहां से 20 वीआइपी बसों ये विदेशी मेहमान होटल के लिए रवाना हुए।

जी-20 समिट में शामिल होने के लिए पहुंचे मेहमानों में रसिया से चार, नाइजीरिया से दो, रिपब्लिक आफ कोरिया से एक, यूनाइटेड स्टेट आफ अमेरिका से दो, ब्राजिल से एक, पीपुल रिपब्लिक आफ चाइना से दाे, यूनाइटेड किंगडम से पांच, जापान से एक, फ्रांस से तीन, इटली से दो, साऊथ अफ्रीका से तीन, स्पेन से एक, आस्ट्रेलिया से एक, नीदरलैंड से दो, यूरोपियन संघ से दो, सऊदी अरब से चार और कनाडा से दो सहित कुल 38 प्रतिनिधि शामिल हैं।

पंतनगर एयरपोर्ट से बाहर आने पर मेहमानों को तिलक लगाकर उत्तराखंड की टोपी पहनाई गई। इसके बाद छोलिया नृत्य से उनका स्वागत किया गया। यहां से मेहमान जर्मन हेंगर टेंट में गए। अतिथि पंतनगर एयरपोर्ट से सीधे रुद्रपुर के रेडिसन ब्लू होटल पहुंचे। यहां से कुमाऊंनी के साथ अन्य व्यंजनों का लुत्फ लेने के बाद रामनगर के लिए रवाना हुए।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

एयरपोर्ट, शहर, रामनगर तक के रूट पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। रामनगर के ढिकुली में मंगलवार से शुरू होने वाले सम्मेलन के लिए शहर तैयार है। रुद्रपुर में सबसे पहले स्थायी एवं अस्थायी अतिक्रमण हटाने के बाद सफाई की गई। जरूरत के हिसाब से नई सड़कें और डिवाइडर बनाए गए। जेब्रा एवं स्टाप लाइन, इंदिरा चौक एवं डीडी चौक चौराहों का सुंदरीकरण, वेलकम बागान आदि बनाया गया गया। वहीं, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर करीब 1500 पुलिसकर्मी मुस्तैद हैं। सुबह साढ़े सात बजे से फ्लीट जाने तक ड्यूटी लगाई गई थी। जबकि शहर में ड्यूटी रात नौ बजे तक है। 20 से अधिक वाहनों लग्जरी वाहनों का काफिला मेहमानों को लेकर निकलेगा रामनगर पंतनगर एयरपोर्ट से रामनगर जी-20 सम्मेलन तक विदेशी मेहमान आठ वीआइपी बसों से रवाना हुए। उनके साथ सुरक्षा कर्मी भी थे । साथ ही काफिले में बुलेट प्रूफ कार, जैमर, दंगा नियंत्रण वाहन और एंबुलेंस के साथ ही पुलिस के वाहन भी होंगे।

विदेशी प्रतिनिधि मंडल मंगलवार को पंतनगर एयरपोर्ट से आठ हाइटेक बसों से सुरक्षा कर्मियों के साथ सड़क मार्ग से रामनगर के लिए रवाना होंगे। विदेशी मेहमानों के साथ सुरक्षा व्यवस्था के लिए 20 से अधिक वाहनों का काफिला भी साथ रहेगा।

बाम डिस्पोजल स्क्वाड और दंगा नियंत्रण वाहन भी काफिले में

बाम डिस्पोजल स्क्वाड और दंगा नियंत्रण वाहन भी काफिले में रखा गया। जिसमें एंबुलेंस, जैमर वेन, बुलेट प्रूफ कार, बाम डिस्पोजल स्क्वाड और दंगा नियंत्रण वाहन  के अलावा काफिले के आगे और पीछे सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों के कई वाहन थे। इधर, विदेशी मेहमानों के जी-20 सम्मेलन में आने से पहले जिला और पुलिस प्रशासन ने सोमवार को पंतनगर से रामनगर तक माकड्रिल किया। जिसमें वाहनों का काफिला एक के पीछे एक होते हुए रुद्रपुर, गदरपुर, बाजपुर होते हुए रामनगर पहुंचा।

पंतनगर से बाजपुर गड़प्पू बार्डर तक 54 सीसीटीवी की नजर

जी-20 सम्मेलन को लेकर पुलिस महकमा तैयार पूरी तरह है। पंतनगर से बाजपुर गड़प्पू बार्डर तक लगाए गए 54 सीसीटीवी कैमरों से हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। गदरपुर और बाजपुर में दो मिनी कंट्रोल रूम भी बनाए गए हैं। अभेद सुरक्षा व्यवस्था के तहत 1500 पुलिस अधिकारी-कर्मचारी अपनी ड्यूटी स्थल पर तैनात हो गए हैं।

कंट्रोल रूम में बदलती रहेगी शिफ्ट

मंगलवार को रामनगर में आयोजित हो रहे जी-20 सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए कई देशों के प्रतिनिधि पंतनगर एयरपोर्ट से सड़क मार्ग के जरिये रुद्रपुर, गदरपुर, बाजपुर होते हुए रामनगर पहुंचे। इसे देखते सोमवार से ही 70 किलोमीटर रूट पर पुलिस, पीएसी समेत अन्य फोर्स तैनात कर दी गई । एसएसपी कार्यालय में बने पुलिस कंट्रोल रूम से पंतनगर, रुद्रपुर, गदरपुर, बाजपुर गड़प्पू बार्डर तक लगे 54 सीसीटीवी के जरिये नजर रखी जा रही है। कंट्रोल रूम में हर शिफ्ट में पांच पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों की ड्यूटी लगी है। गदरपुर और बाजपुर थाने में भी मिनी कंट्रोल रूम गदरपुर और बाजपुर थाने में भी मिनी कंट्रोल रूम बना है। सम्मेलन को लेकर पंतनगर, रुद्रपुर और काशीपुर को सुपरजोन बनाया है, जबकि पंतनगर से बाजपुर गड़प्पू बार्डर तक छह जोन बनाए गए हैं। इनमें चार एसपी, 15 सीओ, 21 निरीक्षक, पांच टैफिक निरीक्षक, सात टीएसआइ, 100 एसआइ के साथ ही 65 एएसआइ, 240 हेड कांस्टेबल, 225 कांस्टेबल, 50 ट्रैफिक पुलिस, तीन पीएसी कंपनी के साथ ही पुलिस लाइन में तैनात पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है।

खुफिया एजेंसियां अलर्ट, बिना आडी रूम न देने के निर्देश

सम्मेलन को लेकर दो जोन में बंटे जिले का 70 किलोमीटर रूट के दोनों और पुलिस ने लोगों का सत्यापन किया। होटलों में भी चेकिंग की। इस दौरान होटल संचालकों को बिना आइडी किसी को भी कमरा उपलब्ध न कराने की नसीहत दी। साथ ही संदिग्धों की सूचना तत्काल पुलिस को देने की अपील की गई।

प्रतिष्ठानों में कर्मचारियों का सत्यापन

इससे  पूर्व  पुलिस ने सोमवार को पंतनगर से लेकर बाजपुर तक रूट के दोनों ओर रहने वाले लोगों, प्रतिष्ठान स्वामी, कर्मचारियों के साथ ही सरकारी और अर्द्धसरकारी कार्यालय में सत्यापन किया। शाम होते ही रुद्रपुर, गदरपुर, बाजपुर में पुलिस और खुफिया एजेंसियों ने होटलों की चेकिंग की। एसपी सिटी मनोज कुमार कत्याल ने बताया कि होटलों में चेकिंग की जा रही है, संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है।

जर्मन हैंगर टेंट में देवभूमि की संस्कृति से होगा तिलक

पंतनगर एयरपोर्ट से रामनगर तक नेशनल हाईवे दीवारों पर उकेरी गईं कलाकृतियों व फूलों से सजा है। पंतनगर एयरपोर्ट पर बने अस्थायी जर्मन हैंगर टेंट में पारंपरिक परिधानों में सजी-धजी महिलाओं ने देवभूमि की संस्कृति के अनुसार मेहमानों को तिलक लगाया। छलिया लोक नृत्य का भी प्रदर्शन किया गया।

लंच में 50 से अधिक व्यंजन

लंच में कंटीनेंटल, चाइनीज, कुमाऊंनी सहित 50 से अधिक भारतीय व्यंजन परोसे गए। वहां से रामनगर के लिए रवाना हुए। उनके रूट को निर्बाध बनाने के लिए कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत, आइजी कुमाऊं नीलेश आनंद भरणे, डीएम युगल किशोर पंत, एसएसपी मंजूनाथ टीसी, मंडी बोर्ड के प्रबंध निदेशक आशीष भटगांई, एसडीएम रुद्रपुर प्रत्यूष सिंह, एसडीएम किच्छा कौस्तुभ मिश्रा आदि अधिकारियों ने सोमवार को दिल्ली से आईं छह एसी टोयटा वैन की फ्लीट निकाली।

क्‍या  है जर्मन हैंगर टेंट  

पंतनगर एयरपोर्ट परिसर में बने जर्मन हैंगर टेंट की लंबाई 66, चौड़ाई 50 व ऊंचाई 20 फीट है।

एल्युमीनियम निर्मित होने से यह हल्का व अत्यंत मजबूत होता है और लोड बेयरिंग प्रेशर को कम करता है।

टेंट के अंदर कोई पोल नहीं होता है।

इससे आंतरिक स्थल का पूरा उपयोग किया जा सकता है।

इसमें लकड़ी की फर्श होती है।

रेन, सन प्रूफ, अग्नि व पराबैंगनी विरोधी, पर्यावरण के अनुकूल होता है।

इस टेंट में चार एसी लगे हैं।

Share this story