चमोली के नैनीसैंण इंटर कॉलेज की प्लैटिनम जुबली पर बोले राज्यपाल, विद्यालय ने देश को दी प्रतिभाएं

चमोली के नैनीसैंण इंटर कॉलेज की प्लैटिनम जुबली पर बोले राज्यपाल, विद्यालय ने देश को दी प्रतिभाएं

गौचर/चमोली, (ललिता प्रसाद लखेड़ा)। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने गुरुवार को राजभवन से अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेज, नैनीसैण चमोली के ‘प्लेटिनम जुबली’ समारोह में बतौर मुख्य अतिथि वर्चुअली प्रतिभाग किया। उन्होंने विद्यालय की 75 वर्षों की विकास यात्रा से जुड़े सभी शिक्षकों, समाज सेवियों और योगदान देने वाले सभी लोगों को प्लेटिनम जुबली मनाने हेतु हार्दिक शुभकामनाएं दीं और सभी के योगदान की प्रसंशा की।

अपने संबोधन में राज्यपाल ने कहा कि विद्यालय ने इन 75 वर्षों की यात्रा में अनेक प्रतिभाओं को जन्म दिया है, जो देश-विदेशों में उत्तराखण्ड का नाम रोशन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दुर्गम क्षेत्र में स्थित इस विद्यालय ने शिक्षा की जो ज्योति व प्रकाश फैलाया है वह प्रेरणादायी है। शिक्षा का दीप जलाना अपने आप में सबसे महान कार्य है, शिक्षा का एक दीप अनेक प्रकाश स्तंभों को प्रकाशित करने की क्षमता रखता है। उन्होंने कहा कि अटल उत्कृष्ट विद्यालयों की स्थापना से शिक्षा के विकास में एक बड़ा योगदान मिल रहा है। हमें शिक्षा के हर पैमाने को उत्कृष्टता के स्तर पर पहुंचाना होगा। हर एक छात्र को उत्कृष्ट शिक्षा प्राप्त हो इस दिशा में सही कदम बढ़ाने होंगे। समान शिक्षा और समान अवसर हमारी बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। 

राज्यपाल ने कहा कि इस विद्यालय में प्रधानाचार्य और अन्य कुछ शिक्षकों के रिक्त पदों को भरे जाने और विद्यालय में लैब की स्थापना व अन्य जरूरी संसाधन हेतु प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि हमारे गांव, हमारी संस्कृति और समृद्ध विरासत को आगे बढ़ाने का कार्य कर रहे हैं। सीमांत गांवों में जरूरी संसाधन जैसे शिक्षा, स्वास्थ्य कनेक्टिविटी आदि को जुटाने का सरकार द्वारा प्रयास किया जा रहा है। अमृतकाल के इस समय में भारत के विकसित राष्ट्र और विश्व गुरु बनने में हमारे गांवों का योगदान महत्वपूर्ण रहेगा। हमारे गांव, तहसील, ब्लाक और जिलों के विकास से ही हमारे राष्ट्र का विकास संभव है। 

राज्यपाल ने कहा कि हम उत्तराखण्ड में रिवर्स माईग्रेशन की दिशा में रास्ते तलाश रहे हैं, पहाड़ों से पलायन को रोकने के लिए, स्वरोजगार और उद्यमों के विकास की दिशा में कार्य करना होगा। सरकार द्वारा पहाड़ में सड़कें तैयार करवाई जा रही हैं, रेल परियोजना बहुत तेज गति से आगे बढ़ रही है। शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, पर्यटन, स्वच्छ पारदर्शी भर्ती नीतियों से युवाओं के भविष्य के बारे में गहराई से विचार किया जा रहा। राज्यपाल ने कहा कि उन्हें खुशी हो रही है कि सभी लोग प्रदेश के विकास में, एक जागरूक नागरिक के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

राज्यपाल ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षा किसी भी व्यक्ति के जीवन में महत्वपूर्ण होती है। शिक्षित व्यक्ति से ही शिक्षित समाज का निर्माण होता है। छात्रों को असीमित सपने देखने चाहिए और अपने कठोर परिश्रम से उन्हें प्राप्त करने का प्रयास करने चाहिए। उन्होंने कहा कि छात्र अभी से अपने अन्दर नेतृत्व की भावना पैदा करें। और अपने प्रयासों से राष्ट्र व समाज के निमार्ण में योगदान दें। 

राज्यपाल ने स्थानीय उत्पादों की अच्छी पैकेजिंग, ब्रान्डिग करते हुए ग्लोबल मार्केट से लिंकेज कराने के लिए भी प्रेरित किया। ताकि एसएचजी महिलाओं को बेहतर आजीविका मिल सके। विद्यालय की हीरक जंयती के अवसर पर सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले छात्र राजन सिंह, छात्रा मेघा थपलियाल सहित विज्ञान, कला एवं खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों को सम्मानित किया गया। इसके साथ ही स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों की विधवाओं, आश्रितों, विद्यालय के पूर्व शिक्षक एवं कर्मचारियों, प्लेटिनम जुबली आयोजन समिति के सदस्यों, सर्वोच्च सहयोगी सदस्यों, एनसीसी कैडेट्स को भी सम्मानित किया गया। समापन समारोह में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति भी दी गई।

इस अवसर पर विद्यालय परिसर में स्वास्थ्य, शिक्षा सहित विभिन्न विभागों के स्टालों के माध्यम से योजनाओं की जानकारियां भी दी गई। आर्मी द्वारा मेडिकल कैंप लगाकर स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। विद्यालय की हीरक जंयती के अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डा.ललित नारायण मिश्र, कार्यक्रम के संयोजक कर्नल राजेंद्र सिंह खत्री, मुख्य शिक्षा अधिकारी कुलदीप गैरोला, प्रधानाचार्य प्रकाश चन्द्र आर्या, समिति के समन्वय अध्यापक जगदीश कण्डवाल, नरेन्द्र सिंह भण्डारी, पीटीआई अध्यक्ष चन्द्र शेखर नेगी, एसएमसी अध्यक्ष गिरीश चन्द्र गुसांई, राजेंद्र सिंह नेगी सहित संस्थान के अन्य पदाधिकारी, स्कूल के शिक्षकगण, छात्र-छात्राएं और बडी संख्या में अभिभावक एवं क्षेत्रीय जनता मौजूद थी।

Share this story