पर्यटन सीजन में एंड्रायड टिकट मशीनें बनीं आफत
पर्यटन सीजन में एंड्रायड टिकट मशीनें बनीं आफत
पर्यटन सीजन में एंड्रायड टिकट मशीनें बनीं आफत

देहरादून। उत्तराखंड परिवहन निगम को हाईटेक बनाने की बातें अधिकारियों द्वारा कही जा रही हैं। आधुनिकीकरण के क्रम में एंड्रायड टिकट मशीनों के प्रयोग शुरू किया गया है, लेकिन नई मशीनों में दिक्कतें आना शुरू हो गई हैं। मोबाइल फोन से भी कम बैटरी बैकअप रोडवेज परिचालाकों के लिए पहले दिन से ही सिरदर्द बना हुआ है। अब मशीनों के हैंग और हीट होने के साथ ही ऑन-ऑफ होने जैसी समस्या भी आ रही है।

नैनीताल परिक्षेत्र के हल्द्वानी डिपो की बात करें तो यहां 8 मशीनें खराब हो गई हैं। इन सभी मशीनों में हैंग, हीट होने और ऑन-ऑफ की समस्या सामने आई है। साथ ही कुछ मशीनों में ऑफ रोड दिखा रहा है। जानकारी के अनुसार रूट पर निकलने से पहले मशीनें शुरू न होने की वजह से परिचालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही कई मशीनें रूट पर भी दिक्कत कर चुकी हैं। ऐसे में परिचालक मशीनें लेकर जाने में डर रहे हैं। हल्द्वानी डिपो को 80 मशीनें दी गई हैं और एक हफ्ते पहले ही इनका प्रयोग शुरू हुआ। चंद दिनों में मशीनों में दिक्कत आने से निगम प्रबंधन की योजना पर सवाल खड़े हो रहे हैं। पर्यटन सीजन में मशीनों में दिक्कत होने से रोडवेज को नुकसान होना तय है।

बोले कर्मचारी नेता

निगम प्रबंधन द्वारा लागू की गई नई मशीनों में समस्या आने की सूचनाएं मिल रही हैं। इस बात का प्रबंधन को संज्ञान लेना चाहिए। परिचालकों को मशीनों का प्रशिक्षण भी सही से नहीं दिया गया है।
– कमल पपनै, प्रदेश अध्यक्ष, रोडवेज कर्मचारी यूनियन

नई तकनीक की टिकट मशीनें लागू करने से पहले प्रबंधन को सभी परिचालकों को प्रशिक्षण देना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया है। इस वजह से परिचालकों को समस्या हो रही है। कुछ मशीने दिक्कत भी कर रही हैं।
– बाल मुकुंद सुयाल, प्रदेश महामंत्री, परिवहन मजदूर संघ

Share this story