राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने उत्तराखण्ड में तैनात सैन्य/अर्द्धसैन्य बलों के जवानों एवं अधिकारियों को उनके सराहनीय कार्यों के लिए "राज्यपाल प्रशंसा पत्र-2023" प्रदान किये

राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने उत्तराखण्ड में तैनात सैन्य/अर्द्धसैन्य बलों के जवानों एवं अधिकारियों को उनके सराहनीय कार्यों के लिए "राज्यपाल प्रशंसा पत्र-2023" प्रदान किये

देहरादून। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को राजभवन ऑडिटोरियम में उत्तराखण्ड में तैनात सैन्य/अर्द्धसैन्य बलों के जवानों एवं अधिकारियों को उनके सराहनीय कार्यों के लिए "राज्यपाल प्रशंसा पत्र-2023" प्रदान किये। "राज्यपाल प्रशंसा पत्र-2023" से सम्मानित होने वाले जवानों एवं अधिकारियों में एनएचओ (नेशनल हाइड्रोग्राफिक ऑफिस, देहरादून) के कमांडर के. विक्टर पॉल, प्रधान सिविल जल सर्वेक्षक अधिकारी आर जे कुशवाहा और नाविक अधिकारी संजीत कुमार शामिल हैं। आईटीबीपी सीमाद्वार, देहरादून से 8वीं बटालियन के असिस्टेंट कमांडेंट डॉ.विशाल चौधरी, इंस्पेक्टर युद्धवीर सिंह और कांस्टेबल कृष्णा नेगी को प्रशंसा पत्र दिए गए। बीआरओ से वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी, मेजर संगीता और पानियर दीपा पाठक को प्रशंसा पत्र से सम्मानित किया गया। इसके अलावा नेशनल हाइड्रोग्राफिक ऑफिस, देहरादून को "राज्यपाल प्रशस्ति पत्र-2023" प्रदान किया गया।

इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि उत्तराखण्ड में तैनात सैन्य/अर्द्धसैन्य बलों के जवानों को उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए सम्मानित किया गया है। जवानों एवं अधिकारियों द्वारा विपरीत परिस्थितियों के दौरान भी देश एवं राज्य के लिए अपना समर्पण भाव दिखाया है। राज्यपाल ने कहा कि बीआरओ की जांबाज नारी शक्तियां भारत के संविधान में स्त्री-पुरुष को दिए गए समानता का अधिकार की उत्कृष्ट उदाहरण है। वे कठिन भौगोलिक परिस्थितियों और दुर्गम क्षेत्रों में अपने जिम्मेदारियों का निर्वहन बखूबी कर रही हैं। वहीं आईटीबीपी के जवान एवं अधिकारी सीमांत क्षेत्रों में देश की सीमाओं की रक्षा करने के साथ-साथ प्राकृतिक आपदा में भी लोगों के जीवन को बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। विषम भौगोलिक परिस्थितियों में भी ये जवान अपने कार्यों को पूरी सजगता के साथ कर रहे हैं।

राज्यपाल ने कहा कि एनएचओ स्वदेशी आधुनिक सर्वेक्षण पोतों, अत्याधुनिक सर्वेक्षण उपकरणों और संयंत्रों के अधिष्ठान के रूप में महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहा है। एनएचओ देहरादून भारत सरकार की ओर से हाइड्रोग्राफिक सर्वेक्षण और समुद्री चार्टिंग के लिए नोडल एजेंसी और विशाल संगठनात्मक संस्थान है। इस कार्यक्रम में मुख्य सचिव डॉ.एस.एस.संधु, चीफ हाईड्रोग्राफर वाईस एडमिरल अधीर अरोड़ा, ज्वांइट चीफ हाईड्रोग्राफर रियर एडमिरल लोचन सिंह पठानिया, जीओसी सब एरिया मेजर जनरल संजीव खत्री, एडीजी एनसीसी देहरादून पी.एस दहिया, सचिव राज्यपाल डॉ. रंजीत कुमार सिन्हा सहित एनएचओ, आईटीबीपी और बीआरओ के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Share this story