लक्सर एसडीएम रहीं पीसीएस अफसर संगीता कनौजिया का निधन, सीएम ने जताया दुःख
लक्सर एसडीएम रहीं पीसीएस अफसर संगीता कनौजिया का निधन, सीएम ने जताया दुःख

ऋषिकेश: लक्सर उप जिलाधिकारी रहीं पीसीएस अफसर संगीता कनौजिया का आज एम्स ऋषिकेश में निधन हो गया है. 26 अप्रैल को संगीता कनौजिया लक्सर में सड़क दुर्घटना हुई थीं. उन्हें गंभीर हालत में एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया था. 4 महीने तक डॉक्टर उन्हें बचाने के प्रयास करते रहे. लेकिन आज संगीता जिंदगी की जंग हार गईं. संगीता कनौजिया के निधन की पुष्टि एम्स ऋषिकेश के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने की है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, संगीता कन्नौजिया का अंतिम संस्कार हरिद्वार के खड़खड़ी श्मशान घाट पर किया जाएगा.

लक्सर में तैनात एसडीएम संगीता कनौजिया की गुरुवार की सुबह करीब 10 बजे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में निधन हो गया. 26 अप्रैल को लक्सर में सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल होने के कारण उन्हें एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया था. दुर्घटना में उनके चालक गोविंद राम की दुर्घटना स्थल पर ही मौत हो गई थी. एम्स प्रशासन के मुताबिक, संगीता को एम्स ऋषिकेश के लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था.

भयावह था हादसाः 26 अप्रैल को रुड़की क्षेत्र के लंढौरा के पास सोलानी पुल पर एसडीएम लक्सर संगीता कनौजिया की गाड़ी की एक ट्रक के साथ जबरदस्त टक्कर हो गई थी. इसमें एसडीएम लक्सर के ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एसडीएम संगीता कनौजिया खुद गंभीर रूप से घायल हो गईं थी. उन्हें उपचार के लिए एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया था.

गले एवं स्पाइन सर्जरी हुई थीः एम्स ऋषिकेश में भर्ती लक्सर एसडीएम लक्सर संगीता कनौजिया की हालत गंभीर बनी हुई थी. 30 अप्रैल को न्यूरो सर्जरी विभाग के विशेषज्ञ डॉक्टरों ने उनके गले एवं स्पाइन सर्जरी की थी. उनकी गर्दन, छाती और सिर में गहरी चोटें आईं थी. उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम रखा गया था. एसडीएम कनौजिया को आईसीयू में डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया था.

CM धामी ने जताया दुख: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने संगीता कनौजिया के निधन पर दुख जताया. उन्होंने ट्वीट किया कि-' कुछ माह पूर्व हुई दुर्भाग्यपूर्ण वाहन दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल SDM संगीता कनौजिया जी का एम्स ऋषिकेश में उपचार के दौरान निधन का अत्यंत दुःखद समाचार प्राप्त हुआ. ईश्वर पुण्यात्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान एवं शोकाकुल परिजनों को यह असीम कष्ट सहन करने की शक्ति प्रदान करें'.

Share this story