शक्तियों के गलत इस्तेमाल से तानाशाही का दृष्टिकोण जन्म लेता है : बंशीधर भगत

भगत ने मांगी नेता प्रतिपक्ष इंदिरा से माँफी

हल्द्वानी। लोकतंत्र सेनानी मंच ने पीलीकोठी में संगोष्ठी काआयोजन कर आपातकाल दौर को याद किया। मुख्य अतिथि विधायक बंशीधर भगत ने कहा कि व्यक्तिगत हितों से ऊपर राष्ट्र सर्वोपरी है। शक्तियों का गलत इस्तेमाल से तानाशाही का दृष्टिकोण जन्म लेता है। जिससे विकास बाधित होता है और आम नागरिक अपने अधिकारों से वंचित होते हैं।

आपात काल में जेल गए दूधनाथ सिंह ने उस दौर में लोकतंत्र बचाने को किए संघर्ष को याद कर कहा, जल्द ही इन्हें स्मारिका के रूप में प्रकाशित किया जाएगा। सेनानी संघ के प्रदेश मंत्री गिरीश कांडपाल ने कहा कि आपात काल में फिल्मी गीतों को तक प्रतिबंधित कर दिया गया। जिसके खिलाफ लाखों लोगों ने यातनाएं सहते हुए सत्याग्रह किया और उन्हें जेल भेज दिया गया।

इसी का परिणाम है कि आज हम खुली हवा में सांस ले पा रहे हैं। इस मौके पर साकेत अग्रवाल, गोकर्ण सिंह मर्तोलिया, चामू सिंह भैसोड़ा, हरीश पंत, कृष्ण लाल नारंग, सुरेश कुमार, राजकुमार हुडिया, कृष्ण लाल नारंग, केके अग्रवाल, योगराज पासी, गोपाल कोचर, लोकमान सिंह गहलौत, आनंद प्रकाश हर्बोला, कामेश्वर काला, पुनीत लाल, बाबूलाल गुप्ता मौजूद रहे।

Share this story