'जन आरोग्य अभियान' आम लोगों के लिये साबित हो रहा वरदान : धन सिंह रावत
dhan singh rawat

देहरादून: स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत (Health Minister Dr Dhan Singh Rawat) की पहल पर आयोजित राज्य स्तरीय 'जन आरोग्य अभियान' (public health campaign) आम लोगों के लिये वरदान साबित हो रहा है. स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रावत ने बताया कि सूबे के अंतिम व्यक्ति तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाने के उद्देश्य से विगत 7 सितम्बर को राज्य स्तरीय 'जन आरोग्य अभियान' शुरू किया गया था, जिसके अंतर्गत अबतक 50 हजार लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा चुका है, जोकि अल्पावधि में इस अभियान के सफल होने का प्रमाण है.

उन्होंने बताया कि जन आरोग्य अभियान में अभी तक 35 हजार लोगों की डायबिटीज स्क्रीनिंग, 37 हजार लोगों के हाइपर टेंशन (उच्च रक्तचाप) स्क्रीनिंग, 30 हजार लोगों का नेत्र परीक्षण, 23 हजार लोगों की टीबी स्क्रीनिंग, 35 हजार लोगों के ओरल कैंसर स्क्रीनिंग एवं 19 हजार महिलाओं के स्तर कैंसर की स्क्रीनिंग की गई है.

इसके अलावा 32 हजार लोगों की काउंसिलिंग कर उन्हें तम्बाकू मुक्त अभियान (tobacco free campaign) के प्रति जागरूक किया गया है. अभियान के दौरान अबतक 1543 लोगों का आष्युमान भारत डिजिटल आईडी कार्ड जबकि, 12 हजार लोगों के आयुष्मान कार्ड भी बनाये गये. विभागीय मंत्री ने बताया कि प्रदेशभर के हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों पर तैनात 940 सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों को अपने आस-पास के गांवों में जाकर स्वास्थ्य कैम्प लगाने के निर्देश दिये गये हैं, जहां पर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जायेगा. साथ ही उन्हें तम्बाकू मुक्त एवं नेत्रदान अभियान के प्रति भी जागरूक किया जायेगा.

डॉ. रावत ने बताया कि स्वास्थ्य अभियान का अधिक से अधिक लाभ उठा सके इसके लिये विभागीय अधिकारियों को जरूरी निर्देश दे दिये हैं. उन्होंने बताया कि सूबे में स्वास्थ्य सेवाओं को और अधिक मजबूत करने के लिये राज्य सरकार लगातार प्रयासरत है. इसी क्रम में आगामी 17 सितम्बर को प्रदेशभर में रक्तदान अमृत महोत्सव एवं प्रधानमंत्री टीबी मुक्त अभियान के अंतर्गत टीबी मुक्त उत्तराखंड अभियान का शुभारम्भ किया जायेगा, जिनका मकसद सूबे में ब्लड की कमी को दूर करना एवं जनसहभागिता से उत्तराखंड को टीबी रोग से मुक्त करना है. उन्होंने उम्मीद जताई कि जन आरोग्य अभियान के जरिये आम आदमी अपने स्वास्थ्य के प्रति भी जागरूक होंगे.

Share this story