जोशीमठ नगर के अस्तित्व संकट के संदर्भ पर प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल उत्तराखण्ड ने की बैठक

जोशीमठ नगर के अस्तित्व संकट के संदर्भ पर प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल उत्तराखण्ड ने की बैठक

देहरादून : दिनांक 9 जनवरी को होटल स्टार वुड प्रिन्स चौक देहरादून में प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मण्डल के नेतृत्व में उत्तराखण्ड के अंतर्गत जोशीमठ क्षेत्र में लगातार बढ़ते जा रहे भू-धसांव को अन्देखा कर लगातार विस्फोटकों के जरिए एनटीपीसी कम्पनी द्वारा सुरंग का निर्माण एवं जोशीमठ क्षेत्र की नींव पर बन रहे बाईपास निर्माण के चलते जोशीमठ नगर के अस्तित्व संकट के संदर्भ पर व उससे हो रही स्थानीय क्षेत्रवासियों की भारी जानमाल की हानि व्यापारियों के व्यापार पर पडे बुरे असर तथा व्यापारी वर्ग किस प्रकार से आम जनमानस का सहयोग कर सकता है एवं प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल के त्रिवर्षीय चुनाव/प्रदेश अध्यक्ष पद हेतु प्रत्याशी की घोषणा जैसे अन्य महत्वपूर्ण विषयों को लेकर एक बड़ी बैठक का आयोजन हुआ। 

जोशीमठ विषय को लेकर बैठक के दौरान राज्य/केन्द्र सरकार से अधोलिखित बिंदुओं पर मांग निम्मानुसार की गई। 

एनचीपीसी के द्वारा  किए जा रहे सुरंग निर्माण के सारे कार्य सुरंग कार्य तुरंत रोक दिए जांए।

जोशीमठ नगर की नींव में बन रहेहेलंग मारवाड़ी के बाईपास को तुरंत रोक दिए जाए। 

एनटीपीसी को पूर्व में किए समझौते के पालन के लिए सरकार निर्देशित करे जिसके तहत जोशीमठ के समस्त घर मकानों का बीमा किया जाना था साथ हीएनटीपीसी की सुरंग को इस भू-धसांव के एक कारक को तौर पर जिम्मेदार मानते हुए जोशीमठ क्षेत्र के लोगो को हुए नुकसान की भरपाई हेतु निर्देशित किया जाए। 

भू-धसाव के कारण बेघर हो रहे लोगों की तुरंत विस्थापन पुनर्वास की व्यवस्था की जाए एवं जिनके घरों की क्षति हुई है उनकी क्षतिपूर्ति वर्तमान बाजार दर पर की जाए। 

उत्तराखण्ड सरकार की वर्तमान विस्थापन एवं पुनर्वास नीति में संशोधन किया जाए विस्थापन नीति के बजाय लोगों को केदारनाथ आपदा के समय किये क्षतिपूर्ति प्रावधानों के आधार पर मुआवजा दिया जाए। 

संपूर्ण जोशीमठ क्षेत्र के घर मकानों के यथाशीग्र  सर्वेक्षण किया जाये।

जोशीमठ बैठक के उपरांत प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमण्डल के चैयरमेन श्री अनिल गोयल जी ने कहा कि प्रांतीय उद्योग प्रतिनिधि मण्डल एक गैरराजनैतिक एवं लोकतांत्रिक संगठन है जिसमें त्रिवार्षिक चुनाव होते है इस बार का चुनाव देहरादून में होगा। 

श्री गोयल जी ने पिछली टीम का धन्यवाद कर उनके कार्यों की सराहना की और साथ ही यह भी घोषणा कि कि आने वाले समय में तुरंत संगठन चुनाव प्रक्रिया में जा रहा है तत्पश्चात व्यापारी हितो के पुरोधा और व्यापार मण्डल के संस़्थापक सदस्य श्री सुभाष कोहली जी ने इस बात का प्रस्ताव रखा कि 19 में से 5 जिलाध्यक्ष यहां प्रेसवार्त्ता में उपस्थित हैं और अन्य जिलाध्यक्षों से दूरभाष के माध्यम से यह तय हुआ है कि व्यापारी हितों की रक्षा के लिए और प्रांतीय उद्योग व्यापार मण्डल को पुन: नई ऊंचाईयों पर पहूंचाने के लिए षह अति आवश्यक है और सर्व सम्मत है कि आदरणीय अनिल गोयल जी ही एक बार फिर प्रांतीय उद्योग व्यापार मण्डल के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी हों। 

इसी क्रम् में कैलाश केशवानी जी ने कहा कि प्रदेश व्यापार मंडल को फिर से नई ऊंचाईयों पर पहूंचाने के लिए हमारे साथी मृदूभाषी सबके प्रिय मा० अनिल गोयल जी को पुन: संगठन के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ना चाहिए।

इस दौरान विपिन नागलिया, सिद्धार्थ उमेश अग्रवाल, विजय कोहली, राकेश महेन्द्रू, जहमोहन रावत, मीत अग्रवाल, इकबाल हुसैन, अनुपम् गुलाटी, सुनिल माटा, राजेश बडोनी, अक्षत जैन, अमित वर्मा, सचिन कर्णवाल, कमलेश अग्रवाल, फतेह चंद गर्ग, आदेश मंगल, आशीष मित्तल, नरेश गुप्ता, अनिल गौड़, अनिल जैन, गोविन्द थापा, राजेन्द्र ढिल्लो, धर्मपाल सिंह चौहान, कैलास कैसवानी, राजीव परासर, सुरेश गुलाटी, राजीव नैय्यर, विजय शर्मा, प्रेम वल्लभ खण्डूड़ी, प्रमोद गोयल, सौरभ भूषण शर्मा, विशतौष जी, सुभाष कोहली, श्रवण जैन, नरेश अग्रवाल, प्रतीक कालिया, ललित मोहन मिश्रा आदि व्यापारी वर्ग उपस्थित रहे।

Share this story