पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद तीरथ सिंह रावत ने जिला विकास समन्वय व निगरानी समिति की बैठक ली

पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद तीरथ सिंह रावत ने जिला विकास समन्वय व निगरानी समिति की बैठक ली

गौचर/चमोली : पूर्व मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड एवं मा0 सांसद गढवाल श्री तीरथ सिंह रावत ने मंगलवार को जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक लेते हुए केन्द्र पोषित योजनाओं की विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने सभी जन प्रतिनिधियों एवं अधिकारियों को मिलकर योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन करने के निर्देश दिए।

मा0 सांसद ने केन्द्र पोषित योजनाओं के तहत मनरेगा, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, पीएम आवास, पीएमजीएसवाई, जल जीवन मिशन, स्वच्छ भारत मिशन, वैकल्पिक ऊर्जा आदि योजनाओं की विस्तार से प्रगति समीक्षा की। जिले में केन्द्र पोषित योजनाओं की अच्छी प्रगति पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए मा0 सांसद ने सभी अधिकारियों को योजनाओं के क्रियान्वयन में गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने की बात कही। साथ ही समाज कल्याण अधिकारी को रोस्टर के हिसाब से ब्लॉकवार अधिकारी बैठाने के निर्देश दिए।

मुख्य विकास अधिकारी डॉ ललित नारायण मिश्र ने मा0 सांसद को जिले में संचालित केन्द्र पोषित योजनाओं की प्रगति से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि एनआरएलएम में वित्तीय वर्ष 2022-23 में लक्ष्य 1600 के सापेक्ष 1217 एसएचजी का गठित किए गए हैं। जल जीवन मिशन में वित्तीय वर्ष 2022-23 मंे अब तक 23495 जल संयोजन कर दिए गए है। जिले में पीएम आवास ग्रामीण के तहत वित्तीय वर्ष 2020-21 व 2021-22 में कुल लक्ष्य 1378 के सापेक्ष 1332 आवास पूर्ण हैं। पीएम आवास शहरी में दिसम्बर 2022 तक लक्ष्य 1491 आवासों मे से 1071 पूर्ण तथा 372 निमार्णाधीन हैं।

बैठक में नगरपालिका अध्यक्ष पुष्पा पासवान, डीएफओ सर्वेश दुबे, पीडी आनन्द सिंह, सीएमओ राजीव शर्मा सहित सभी जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Share this story