मुख्य विकास अधिकारी सुश्री झरना कमठान की अध्यक्षता में जिला गंगा सुरक्षा समिति की बैठक हुई आयोजित
मुख्य विकास अधिकारी सुश्री झरना कमठान की अध्यक्षता में जिला गंगा सुरक्षा समिति की बैठक हुई आयोजित

देहरादून (जि.सू.का) : मुख्य विकास अधिकारी सुश्री झरना कमठान की अध्यक्षता में जिला गंगा सुरक्षा समिति की बैठक कलेक्ट्रेट परिसर ऋषिपर्णा सभागार में आयोजित की गई। इस अवसर पर जीएससी के सदस्य विनोद जुगलान ने मुख्य विकास अधिकारी को गौलोक वासी पर्यावरण विद पद्मश्री सुंदर लाल बहुगुणा के जीवन पर आधारित मधु पाठक लिखित संकल्प के हिमालय सुंदर लाल बहुगुणा नामक पुस्तक भेंट की। 

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने नमामि गंगे योजना के तहत ऋषिकेश और आसपास क्षेत्र के सभी सीवरेज नालों को टेप करने तथा बाढ़ नियंत्रण के ठोस प्रबन्ध किये जाने के निर्देश दिए।उन्होंने खदरी में सौंग नदी के बाएं छोर बाढ नियंत्रण के कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए। समिति की ओर से शासन को भी इस संदर्भ में त्वरित कार्यवाही की सिफारिश किये जाने का अनुमोदन किया गया। बैठक में सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता डीसी उनियाल द्वारा बताया गया कि उक्त क्रम में शासन को बीते दिवस सिंचाई विभाग की ओर से योजना की पीपीटी (पवार पॉइंट प्रजेंटेशन) सचिव बाढ़ आपदा प्रबंधन को दिखाई गई है। पुनः समिति की ओर से संस्तुति के लिए सिफारिश की जाएगी। ताकि किसानों की आजीविका और आर्थिकी प्रभावित न हो।

बैठक में समिति के नामित सदस्य पर्यावरणविद विनोद जुगलान ने नमामि गंगे योजना के तहत ऋषिकेश और आसपास क्षेत्र के सभी सवरेज नालों को टेप तथा ऋषिकेश भैरो मन्दिर के समीप बहने वाला तथा कृष्णा नगर लेबर कालोनी से निकलने वाले नाले शामिल करते हुए कार्य को तेजी से पूर्ण करने का अनुरोध किया। जुगलान ने कहा कि नगरीय क्षेत्र में सीवरेज सेफ्टिक टैंक सॉलिड वेस्ट खाली कराने की व्यवस्था है जबकि ग्रामीण क्षेत्र में ग्रामीणों को साफ करवाने के लिए ज्यादा पैसे देने पड़ते हैं। इसके निवारण के लिए व्यवस्था किये जाने के अुनरोध पर मुख्य विकास अधिकारी ने  देहरादून ने जिला विकास अधिकारी एवं स्वजल परियोजना प्रबन्धक को इस संदर्भ में संज्ञान लेते हुए स्वजल योजना में व्यवस्था करने की बात कही।

बैठक में जिला विकास अधिकारी एवं स्वजल परियोजना प्रबन्धक सुशील मोहन डोभाल, समिति के नामित सदस्य एवं उत्तराखंड उद्योग एसोसिएशन के अध्यक्ष पंकज गुप्ता, पेयजल संस्थान के उपखण्ड अधिकारी परियोजना प्रबन्धक अनुरक्षण एवं निर्माण इकाई गङ्गा एसके वर्मा, जल संस्थान ऋषिकेश के सहायक अभियंता हरीश बंसल, नगर निगम ऋषिकेश के एसआई संतोष गुसांई, निगम सूचना प्रबन्धन एवं पर्यावरण विशेषज्ञ गुरमीत सिंह सहित वनविभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

Share this story