उत्तराखंड : प्रदेश में जहाँ एक और कोरोना संक्रमित मामलों में आ रही कमी, वहीँ दूसरी तरफ ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों ने बढ़ाई स्वास्थ्य विभाग की चिंता

देहरादून : प्रदेश में कोरोना संक्रमित मामले और मरीजों की मौत कम हो रही हैं। बीते 24 घंटे में 220 नए संक्रमित मिले हैं और पांच मरीजों की मौत हुई है। जबकि संक्रमितों की तुलना में ठीक होने वाले कम है। कुल संक्रमितों की संख्या 338508 हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक शनिवार को 25031 सैंपल जांच में निगेटिव पाए गए। जबकि पूरे प्रदेश में 220 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। देहरादून जिले में 94, अल्मोड़ा में 24, टिहरी में 21, हरिद्वार में 20, नैनीताल में 17, ऊधमसिंह नगर में 14, पौड़ी में नौ, उत्तरकाशी में आठ, रुद्रप्रयाग में सात, चंपावत में तीन, बागेश्वर, चमोली व पिथौरागढ़ जिले में एक-एक संक्रमित मिला है।

प्रदेश में 24 घंटे में पांच मरीजों ने इलाज के दौरान दम तोड़ा है। जबकि देहरादून, हरिद्वार व टिहरी जिले में चार कोरोना मरीजों की मौतें बैकलॉग की हैं। अब तक प्रदेश में 7026 मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं, 217 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इन्हें मिला कर अब तक 322475 मरीज संक्रमण को मात दे चुके हैं। वर्तमान में प्रदेश कोरोना मृत्यु दर 2.8 प्रतिशत, रिकवरी दर 95.26 प्रतिशत और संक्रमण दर 6.42 प्रतिशत दर्ज की गई। 3220 सक्रिय मरीजों का उपचार चल रहा है।

ब्लैक फंगस के 13 नए मरीज, तीन की मौत

प्रदेश में ब्लैक फंगस (म्यूकरमाइकोसिस) के बढ़ते मामलों ने स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। शनिवार को 13 नए मरीजों में ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई है। जबकि तीन मरीजों ने इलाज के दौरान दमतोड़ा है। कुल मरीजों की संख्या 446 हो गई है। मौत का आंकड़ा 76 पहुंच गया है।

स्वास्थ्य विभाग के हेल्थ बुलेटिन के अनुसार शनिवार को देहरादून जिले में ब्लैक फंगस के 13 नए मामले मिले हैं और तीन मरीजों की मौत हुई है। एम्स ऋषिकेश में 11, हिमालयन हास्पिटल जौलीग्रांट में दो नए मरीज भर्ती किए गए। एम्स ऋषिकेश में तीन मरीजों ने दमतोड़ा है। जबकि चार मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया है।

प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 446 हो गई है। वहीं, अब तक 76 मरीजों की मौत हो चुकी है। कुल 62 मरीज ठीक हुए हैं। कोरोना संक्रमित मामले और मौतें लगातार घटने से जहां स्वास्थ्य विभाग को थोड़ी राहत है। ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों ने विभाग की चुनौती बढ़ा दी है।

केंद्र सरकार ने उत्तराखंड के लिए स्वीकृत किए 25 ऑक्सीजन प्लांट 

कोरोना की संभावित तीसरी लहर से पहले प्रदेश में नौ ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो जाएंगे। केंद्र सरकार की ओर से उत्तराखंड के लिए 25 ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत किए गए हैं। इसके साथ ही संक्रमण से बचाव के लिए अस्पतालों में ऑक्सीजन और आईसीयू बेड के अलावा बच्चों के लिए अलग से आईसीयू व्यवस्था की जाएगी।

शनिवार को स्वास्थ्य महानिदेशक डा. तृप्ति बहुगुणा ने कोरोना की तीसरी लहर से पहले स्वास्थ्य सुविधाओं का इंतजाम करने के लिए सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों, प्रमुख अधीक्षकों और प्रभारी चिकित्साधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग बैठक की।

महानिदेशक ने कहा कि तीसरी लहर से पहले जिला अस्पताल अल्मोड़ा, चमोली, रुद्रप्रयाग, रुद्रपुर, उप जिला चिकित्सालय रानीखेत, खटीमा, एम्स ऋषिकेश और राजकीय मेडिकल कालेज हल्द्वानी समेत एक अन्य अस्पताल में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट स्थापित किए जाएंगे। वर्तमान में सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में ऑक्सीजन सिलिंडर, कंसनट्रेटर, रैपिड एंटीजन टेस्ट किट व होम आइसोलेशन किट उपलब्ध है। जिन जनपदों में चिकित्सा सामग्री की कमी है। वे तत्काल मांग स्वास्थ्य महानिदेशालय को भेजें।

उन्होंने निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार स्वास्थ्य कर्मियों को दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि के लिए शीघ्र सूचना एकत्रित कर मुख्यालय को भेजी जाए। ब्लॉक स्तर पर बनाए गए कोविड कंट्रोल रूम का संचालन प्रभावी स्तर पर सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर मिल रही शिकायतों का भी समय से निस्तारण करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.