उत्तराखंड : जानिए उत्तराखंड की ताजा कोरोना और ब्लैक फंगस अपडेट, पढ़िए पूरी खबर!

देहरादून : उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 29 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। वहीं एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है। जबकि 48 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया। वहीं, सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 513 पहुंच गई है।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, शुक्रवार को 26526 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। तीन जिलों अल्मोड़ा, चंपावत और नैनीताल में एक भी संक्रमित मरीज सामने नहीं आया है। वहीं, बागेश्वर में दो, चमोली, पौड़ी, टिहरी और उत्तरकाशी में एक-एक, देहरादून,  पिथौरागढ़ और रुद्रप्रयाग में पांच-पांच, हरिद्वार व ऊधमसिंहनगर में चार-चार, संक्रमित मरीज मिले हैं।

प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 342336 हो गई है। इनमें से 328419 लोग ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के चलते अब तक कुल 7367 लोगों की जान जा चुकी है। इसमें एक मौत बीते दिनों की शामिल की गई है।

प्रदेश में ब्लैक फंगस का एक नया मामला

प्रदेश में शुक्रवार को ब्लैक फंगस का और मरीज मिला है। तीन मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया। देहरादून जिले में एक मरीज में ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई है।

हरिद्वार में टीकाकरण का आंकड़ा पहुंचा सात लाख के पार

कोरोना टीकाकरण ने रफ्तार पकड़ी तो जनपद में टीका लगवाने वालों का आंकड़ा भी सात लाख के पार पहुंच गया। जुलाई में ही एक लाख 37 हजार लोगों का टीकाकरण किया गया।

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से तेजी के साथ टीकाकरण किया जा रहा है। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत भी 31 दिसंबर तक शत प्रतिशत टीकाकरण का दावा कर रहे हैं।

उधर, लोगों में जागरूकता आने से वह भी बड़ी संख्या में केंद्रों पर टीकाकरण केे लिए पहुंच रहे हैं। लोगों की भीड़ इस कदर उमड़ रही है कि टीका कम पड़ रहा है। कई जगह डोज खत्म होने से दोबारा से मंगानी पड़ रही है।

16 जनवरी से शुरू हुए टीकाकरण की रफ्तार धीमी होने से छह महीने 20 दिन में यानी 30 जून तक 5 लाख 50 हजार 694 लोगों को ही टीका लग पाया था। मगर जुलाई माह में बड़ी मात्रा में टीकाकरण होने से 31 जुलाई तक 6 लाख 87 हजार 766 लोगों को टीका लगाया जा चुका था। एक जुलाई से पांच अगस्त तक की अवधि में 1 लाख 69 हजार 536 लोगों को टीके लगाए गए। अब पांच अगस्त तक जनपद में 7 लाख 20 हजार 230 लोगों को टीकाकरण किया जा चुका है।

एसीएमओ डॉ. अजय कुमार का कहना है कि लोगों में टीकाकरण कराने को काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से भी पर्याप्त मात्रा में टीकाकरण कराया जा रहा है। उनका कहना है कि आने वाले दिनों में टीकाकरण में और तेजी आएगी।

वैक्सीन की दोनों डोज या कोरोना की रिपोर्ट जरूरी

नई टिहरी जिला प्रशासन ने वीकेंड पर आने वाले पर्यटकों के लिए एसओपी जारी कर दी है। इसके अनुसार यदि किसी पर्यटक ने वैक्सीन की दोनों डोज नहीं लगवाई है तो उसे निगेटिव कोरोना रिपोर्ट दिखानी होगी। डीएम इवा आशीष श्रीवास्तव ने पर्यटन स्थलों पर कोविड नियमों का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिए हैं।

डीएम ने बताया कि कैंपटीफॉल से एक किलोमीटर दूरी पर स्थित चेक पोस्ट पर पर्यटकों की जांच की जाएगी। कोविड वैक्सीन की दोनों डोज नहीं लगी होने पर आरटीपीसीआर, ट्रू-नॉट, सीबी-नॉट, रैट निगेटिव रिपोर्ट दिखाने पर पर्यटकों को आगे जाने की अनुमति होगी।

वाटर पूल में एक समय में 50 लोग ही 25 मिनट तक रह सकेंगे। वहीं, काणाताल, धनोल्टी, तपोवन, मुनिकीरेती, ढालवाला, शिवपुरी में होटलों में वही पर्यटक ठहर सकेंगे जिन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज लगवाई है या उनके पास 72 घंटे पहले की कोरोना निगेटिव रिपोर्ट हो।

वहीं, कोटी कालोनी में भी बोट संचालकों को कोरोना जांच कराने को कहा गया है। डीएम ने बताया कि जिले के सभी 10 चेक पोस्ट पर बाहर से आने वालों की नियमित चेकिंग कराई जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.