उत्तराखंड : राज्य के लिए आज अच्छी खबर ब्लैक फंगस का एक भी मामला नहीं आया सामने, वहीँ कोरोना के 177 नए मामले आए सामने

देहरादून : उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 177 नए मामले सामने आए हैं। वहीं तीन मरीजों की मौत हुई है। इसके अलावा आज 243 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया।

अल्मोड़ा में दो, बागेश्वर में तीन, चमोली में तीन, चंपावत में पांच, देहरादून में 37, हरिद्वार में 56, नैनीताल में 25, पौड़ी में चार, पिथौरागढ़ में नौ, रुद्रप्रयाग में पांच, टिहरी में 11, ऊधमसिंह नगर में आठ और उत्तरकाशी में नौ मामले सामने आए हैं।

प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या तीन लाख 40 हजार 255 हो गई है। इनमें से तीन लाख 25 हजार 9 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 2101 पहुंच गई है। प्रदेश में कोरोना के चलते अब तक कुल 7316 लोगों की जान जा चुकी है।

राज्य में ब्लैक फंगस का कोई भी नया मरीज नहीं मिला

वहीं बुधवार को राज्य में ब्लैक फंगस का कोई भी नया मरीज नहीं मिला है और न ही किसी की मौत हुई है। अब तक राज्य में ब्लैक फंगस के कुल 459 मरीज मिल चुके हैं। जिनमें से 236 मरीज दूसरे राज्यों के हैं। वहीं कुल 95 की मौत हो चुकी है।

हरिद्वार में फिर खड़ा हुआ कोरोना वैक्सीन का संकट

जनपद में वैक्सीन का संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। चार दिन बाद मिली कोरोना वैक्सीन के कोटे में से केवल एक हजार डोज ही बची हैं। जानकारी के अनुसार अगले दो दिन भी वैक्सीन मिलने की संभावना नहीं है। ऐसे में गुरुवार को जनपद के सभी टीकाकरण केंद्रों पर ताले लटक जाएंगे।

सोमवार को चार दिन बाद हरिद्वार जिले को 22500 कोरोना टीकाकरण की डोज मिली थी। मंगलवार को 57 केंद्रों पर  16500 लोगों को टीका लगाया गया। बुधवार को केवल 46 केंद्रों पर टीकाकरण किया गया। करीब पांच हजार लोगों को टीका लगाया गया।

शहर में प्रेमनगर आश्रम, ऋषिकुल, देवपुरा आश्रम, कनखल बड़ा अखाड़ा केंद्र पर सुबह से ही बड़ी संख्या में लोग टीकाकरण के लिए पहुंचे थे। तेज धूप के बाद भी लोग लाइनों में खड़े दिखे। कुछ केंद्रों पर शाम होते होते वैक्सीन की डोज खत्म हो गई और बड़ी संख्या में लोगों को मायूस होकर लौटना पड़ा।

जनपद में अब केवल एक हजार डोज की बची है। गुरुवार सुबह को कुछ केंद्रोें पर यह डोज खत्म हो जाएगी और जनपद के अधिकांश केंद्रों पर ताले लटक जाएंगे। एसीएमओ डॉ. अजय कुमार ने बताया कि अभी शासन से डोज मिलने के कोई निर्देश नहीं मिले हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि दो जुलाई तक ही डोज मिल सकती है।

474 ने लगवाया कोरोना का टीका 

ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय में चल रहे टीकाकरण केंद्र में रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव डॉ. नरेश चौधरी की देखरेख में टीकाकरण किया गया। 474 लोगों को टीका लगाया गया। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से डॉ. नलिंद असवाल व डॉ. सुबोध जोशी ने टीकाकरण केंद्र का निरीक्षण किया। रेडक्रॉस स्वयंसेवकों में विकास देसवाल, डॉ. भावना जोशी, डॉ. वैशाली, डॉ. स्वपनिल, डॉ. उर्मिला पांडेय, डॉ. आराधना रावत आदि मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.