उत्तराखंड : बुधवार को सामने आये 49 नए कोरोना संक्रमित मरीज, वहीं एक भी मरीज की नहीं हुई मौत

देहरादून : उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 49 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है। जबकि 33 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया। सक्रिय मामलों की संख्या 296 पहुंच गई है।

देहरादून में दस और पौड़ी में 20 संक्रमित मिले

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, बुधवार को दो जिलों रुद्रप्रयाग और टिहरी में एक भी संक्रमित मरीज नहीं मिला है। अल्मोड़ा, बागेश्वर, चमोली और नैनीताल में एक-एक, चंपावत, हरिद्वार और नैनीताल में दो-दो, देहरादून में दस, पौड़ी में 20, पिथौरागढ़ में चार और उत्तरकाशी में पांच संक्रमित मरीज मिले हैं।

प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 343310 हो गई है। इनमें से 329554 लोग ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के चलते अब तक कुल 7389 लोगों की जान जा चुकी है। प्रदेश की रिकवरी दर 95.99 प्रतिशत और संक्रमण दर 0.26 प्रतिशत दर्ज की गई है।

कल जिले में चलेगा कोविड टीकाकरण महाअभियान

देहरादून जिले में कोविड-19 टीकाकरण का महाअभियान 17 सितंबर को चलाया जाएगा। महाअभियान के तहत जिले में 33 हजार (आठ हजार पहली और 25 हजार दूसरी खुराक) लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. दिनेश चौहान ने बताया कि महाअभियान के लिए जिले में 200 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। जहां पर 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लाभार्थियों को मौके पर मोबाइल और अनुमन्य परिचय पत्र दिखाकर टीका लगाने की सुविधा होगी। सभी सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों पर टीका पूरी तरह से निशुल्क लगाया जाएगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मनोज उप्रेती ने बताया कि जिले में पहली खुराक के लिए कुल लक्ष्य 14 लाख 27 हजार 997 के सापेक्ष 13 लाख 91 हजार 418 लाभार्थियों को टीका लगाया जा चुका है। साथ ही टीकाकरण को गति देने के लिए जिले में 21 मोबाइल टीमें भी लगी हुई हैं। दिव्यांगजनों के लिए पांच टीमें लगाई गई हैं।

एक करोड़ का आंकड़ा पार करने से कुछ कदम पीछे है उत्तराखंड

कोविड टीकाकरण में एक करोड़ का आंकड़ा पार करने से उत्तराखंड कुछ कदम पीछे हैं। इस आंकड़े तक पहुंचने के लिए सरकार की ओर से 17 सितंबर को टीकाकरण महाभियान चलाया जाएगा। इसके लिए प्रत्येक जिले में 100-100 केंद्र बनाए जाएंगे। राज्य के पास वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। वर्तमान में सभी 13 जिलों के पास 11.91 लाख टीकों का स्टॉक उपलब्ध है। प्रदेश में अब तक 18 से अधिक आयु वर्ग में 91.5 प्रतिशत लोगों को पहली डोज लगी है।

राज्य प्रतिरक्षक अधिकारी डॉ. कुलदीप सिंह मर्तोलिया ने बताया कि प्रदेश में अब तक 95 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है। जिसमें 70.70 लाख को पहली और 24.34 लाख से अधिक को दूसरी डोज लगाई गई है। राज्य एक करोड़ का आंकड़ा पार करने के करीब पहुंच गया है। टीकाकरण महाभियान के लिए सभी जिलों में तैयारियां पूरी कर ली गई है। स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने सभी जिलों को अभियान के लिए 100-100 केंद्र बनाने के निर्देश दिए हैं। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों का टीकाकरण किया जा सके।

प्रदेश में कोविड वैक्सीन डोज की उपलब्धता

जिला   –            वैक्सीन डोज उपलब्ध
अल्मोड़ा   –          42100
बागेश्वर        –      18330
चमोली      –         43020
चंपावत      –        11830
देहरादून     –         303110
हरिद्वार      –         327910
नैनीताल   –          118740
पौड़ी        –         46980
पिथौरागढ़    –       25240
रुद्रप्रयाग       –     11260
टिहरी           –    37040
ऊधमसिंह नगर-    192890
उत्तरकाशी      –    13410
कुल –              1191889

कर्णप्रयाग और गौचर में घर-घर जाकर होगा टीकाकरण

स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन के संयुक्त अभियान के माध्यम से नर्सिंग कॉलेज गोपेश्वर की 10 नर्सिंग टीमें कर्णप्रयाग और गौचर नगर पालिका में घर-घर जाकर छूटे हुए लोगों का टीकाकरण करेंगी। सीएचसी कर्णप्रयाग के डॉ. हरीश थपलियाल ने कहा कि कोरोना टीकाकरण गुरुवार से प्रस्तावित है। टीम वृद्धजनों, दिव्यांगों और बीमार लोगों के घर-घर जाकर टीका लगाएगी।

गढ़वाल विवि के स्टेडियम में गुरुवार से हाेंगी खेल गतिविधियां

श्रीनगर में एचएनबी गढ़वाल विवि में खेल गतिविधियों के संचालन के लिए गुरुवार से आउटडोर स्टेडियम खोल दिए जाएंगे। वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने पर ही छात्रों को स्टेडियम में प्रवेश करने दिया जाएगा।

कोरोना संक्रमण का प्रसार कम होने पर गढ़वाल विवि में चरणबद्ध ढंग से शैक्षणिक व अन्य गतिविधियों के लिए परिसर खोले जाने लगे हैं। बुधवार से पीएचडी के शोध छात्रों के लिए तीनों परिसरों को खोल दिया गया है। इसी क्रम में विवि ने गुरुवार से खेल गतिविधियों के लिए आउटडोर स्टेडियम खोलने का निर्णय लिया है। कुलसचिव डॉ. एके खंडूड़ी ने इस संबंध में बुधवार को आदेश जारी कर दिए।

उन्होंने बताया कि उत्तराखंड सरकार की ओर से जारी एसओपी के अनुसार स्टेडियम में प्रवेश करने के लिए छात्रों को दोनों वैक्सीन लगाए जाने का प्रमाण पत्र देना होगा। राज्य के बाहर से आने वाले छात्रों को स्मार्ट सिटी पोर्टल पर भी पंजीकरण करवाना होगा। स्टेडियम में प्रवेश के समय उन्हें पंजीकरण दिखाना होगा। तीनों परिसरों के स्टेडियम में बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश वर्जित रहेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.