दिल्ली रोड शो में योगी आदित्यनाथ की टीम को मिला सवा लाख करोड़ से ज्यादा का निवेश

दिल्ली रोड शो में योगी आदित्यनाथ की टीम को मिला सवा लाख करोड़ से ज्यादा का निवेश

नई दिल्ली/लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश आर्थिक विकास की नई गाथा लिख रहा है। प्रदेश को एक ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए योगी सरकार विस्तृत कार्ययोजना बनाकर कार्य कर रही है। इसी के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की टीम ने शुक्रवार को दिल्ली में रोड शो कर निवेशकों को ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में आने का न्योता दिया। दिल्ली के द ओबराय होटल में आयोजित कार्यक्रम में देश और विदेश के दिग्गज उद्योगपतियों ने हिस्सा लिया। इस दौरान उद्योगपतियों ने करीब सवा लाख करोड़ रुपए के निवेश के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का वीडियो संदेश उद्योगपतियों को दिखाया गया। रोड शो को भारत के जी-20 शेरपा अमिताभ कांत, यूपी के मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्रा, औद्योगिक विकास विभाग मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी, नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री एके शर्मा, भारतीय उद्योग परिसंघ के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी समेत अन्य गणमान्य अतिथियों ने भी संबोधित किया। यूपी के मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्रा ने अपने संबोधन में कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले 6 वर्षों में यूपी की तस्वीर बदल दी है। यूपी में चौतरफा विकास हो रहा है। औद्योगिक विकास विभाग मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने योगी सरकार की निवेश फ्रेंडली नीतियों के बारे में बताते हुए उद्योगपतियों को प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया।

प्रदेश में आए बदलाव को जी-20 शेरपा ने सराहा रोड शो को संबोधित करते हुए भारत के जी-20 शेरपा अमिताभ कांत ने कहा कि पिछले आठ सालों में विभिन्न क्षेत्रों में सबसे अधिक सुधार यूपी में हुए हैं। भारत दुनिया की सर्वाधिक तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है और यूपी इसमें हर कदम पर साथ चल रहा है। मुझे पूरा विश्वास है कि यूपी भारत के विकास का वाहक बनेगा। जी-20 सरीखे महत्वपूर्ण आयोजन के जरिए पूरी दुनिया नए यूपी से परिचित होगी।

उद्योगपतियों ने कहा भारत के विकास का इंजन बन रहा यूपी रोड शो में शामिल हुए निवेशकों ने नए उत्तर प्रदेश की सराहना की। एबी मौरी ग्रुप के निदेशक सतीश कुमार ने कहा कि यूपी में हमने 11 हजार करोड़ रुपये का निवेश किया है। पीलीभीत में एक प्लांट लगाया गया है। दो साल पहले कंपनी निवेश के सिलसिले में कई शहरों में गई, लेकिन यूपी सरकार की सहूलियतों ने यहां निवेश के लिए प्रोत्साहित किया। मापेई के सीईओ संजय भल्ला ने कहा कि यूपी सरकार के साथ काम करने का अनुभव शानदार है। उद्योग से संबंधित किसी भी तरह की समस्या का समाधान मिनटों में किया जाता है। सरकार उद्योगपतियों की सहायता के लिए सदैव तत्पर दिखती है। यहां समस्या का समाधान वाट्सएप पर ही हो जाता है। वाट्सएप पर अधिकारियों को समस्या बताओ और चंद मिनटों में समस्या हल हो जाती है। भल्ला ने कहा कि उनकी कंपनी भविष्य में यूपी में और अधिक निवेश करने की तैयारी कर रही है। एनटीपीसी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक गुरदीप सिंह की जगह रोड शो में शिरकत करने पहुंचीं महिला अधिकारी ने कहा कि हमारी कंपनी और हमारे अध्यक्ष का मानना है कि यूपी के साथ रिश्ता काफी पुराना है। एनटीपीसी भविष्य में भी यूपी में निवेश करती रहेगी। अब तक यूपी में हम 5200 करोड़ रुपये का निवेश कर चुके हैं। आज इस रोड शो के दौरान 40 हजार करोड़ रुपये के चार एमओयू साइन हुए हैं, इसके अलावा यूपी में 10 हजार करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट अभी चल रहे हैं। जैक्सन ग्रुप के चेयरमैन समीर गुप्ता ने कहा कि यूपी निवेश के लिए हर लिहाज से मुफीद है। सरकार पूरा सहयोग कर रही है। यूपी खुद बहुत बड़ा मार्केट है। जो यहां निवेश करेगा वह भारत के विकास के पहिए को तेज घुमाने में अपना योगदान देगा। भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने कहा कि यूपी में निवेश करने वाले उद्योगपति ही विदेश में यूपी के ब्रांड एम्बेसडर बनेंगे।

मुख्यमंत्री ने निवेशकों को दिया न्योता रोड शो में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का वीडियो संदेश प्रसारित किया गया। योगी आदित्यनाथ ने संदेश में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में भारत निवेशकों का पसंदीदा जगह बनकर उभरा है। पीएम के नेतृत्व में राजनैतिक स्थायित्व और गुड गवर्नेंस के नए दौर का सृजन हुआ है। प्रचूर प्राकृतिक संसाधनों वाला यूपी गुड गवर्नेंस, अपराध और भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टालरेंस, सबसे बड़े उपभोक्ता बाजार, सिंगल विंडो पोर्टल निवेश मित्र, निवेश फ्रेंडली नीतियों के साथ ईज आफ डूइंड में अग्रणी राज्य है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी हर लिहाज से निवेश के लिए सर्वोत्तम जगह है। यूपी भारत की जीडीपी में 8 प्रतिशत का योगदान दे रहा है। प्रदेश की अर्थव्यवस्था 11 प्रतिशत की दर से बढ़ी है। आज यूपी देश की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की तरफ अग्रसर है। वैश्विक कोरोना महामारी के बावजूद यूपी में रिकार्ड 4 लाख करोड़ रुपये के निवेश की योजनाएं आरंभ हुई हैं। यह यूपी के प्रति निवेशकों का विश्वास दर्शाता है। पीएम के संकल्प के अनुरूप यूपी भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ को गति देने के लिए तैयार है।

वन विभाग से जुड़े उद्योग को 14 हजार करोड से अधिक का निवेश प्रस्ताव वानिकी क्षेत्र में अब तक दिग्गज कंपनियों से 14,085 करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव मिल चुका है। इसमें से निवेशकों ने 3,365 करोड़ रुपये का निवेश सुनिश्चित भी कर दिया है। करीब 11 हजार करोड़ के निवेश प्रस्ताव अभी पाइपलाइन में हैं।

Share this story