अनलॉक उत्तराखंड : एक बार फिर बढ़ी कोविड कर्फ्यू की समयावधि, अब इन नियमों के साथ होगा कर्फ्यू, नियमों का उल्लंघन करने वालों पर होगी कार्यवाही

देहरादून : कोरोना संक्रमण के मद्देनजर उत्तराखंड में कोविड कर्फ्यू की अवधि एक सप्ताह और बढ़ा दी गई है। उत्तराखंड में कोविड कर्फ्यू 20 जुलाई तक बढ़ा दिया गया है। अब कर्फ्यू 20 जुलाई सुबह छह बजे तक प्रभावी रहेगा। इस बीच पर्यटन स्थलों पर भीड़ के नियंत्रण का अधिकार जिलाधिकारियों को दे दिया गया है। वह जरूरत के हिसाब से प्रतिबंध लगा सकेंगे। वहीं, सरकार ने खेल गतिविधियों के संचालन को भी अनुमति दे दी है। शासन ने राज्य के विभिन्न पर्यटक स्थलों पर वीकेंड (सप्ताहांत) में हो रही भीड़ को देखते हुए जिलाधिकारियों को अपने जिले में पर्यटकों की संख्या सीमित करने और प्रतिबंध लगाने का निर्णय लेने को अधिकृत कर दिया है।

सोमवार को मुख्य सचिव सुखबीर सिंह संधू द्वारा जारी मानक संचालन कार्यविधि (एसओपी) में पुराने प्रतिबंधों को बरकरार रखा गया है। बदलाव सिर्फ यह किया गया है कि राज्य के समस्त पर्यटन स्थलों में वीकेंड में होने वाली भीड़ को देखते हुए जिला प्रशासन को इसे नियंत्रित करने का जिम्मा दे दिया गया है। जिलाधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि पर्यटन स्थलों में पर्यटक शारीरिक दूरी, मास्क पहनने व हाथों को सैनिटाइज करने के नियम का अनुपालन अनिवार्य रूप से करें।

भीड़ पर नियंत्रण के लिए इन पर्यटन स्थलों की क्षमता एवं वहां की भौगोलिक परिस्थितियों के अनुसार कितने प्रतिशत पर्यटकों को आवाजाही अथवा भ्रमण की अनुमति दी जा सकती है या फिर कोई प्रतिबंध लगाने के लिए संबंधित जिलाधिकारी निर्णय लेने को स्वतंत्र होंगे। जिलाधिकारी नियमों का उल्लंघन करने वालों पर सख्ती से कार्रवाई भी सुनिश्चित करेंगे।

एसओपी के मुताबिक राज्य के बाहर से आने वाले सभी व्यक्तियों को अधिकतम 72 घंटे पहले की अवधि की आरटीपीसीआर, ट्रू नेट, सीबीनेट या रेपिड एंटीजन टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट के साथ ही प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। इन सभी को अनिवार्य रूप से स्मार्ट सिटी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन भी कराना होगा।

अन्य राज्यों से उत्तराखंड के गांवों में आने वाले प्रवासियों के लिए सात दिन क्वारंटाइन में रहना अनिवार्य किया गया है। बाजार पूर्व की भांति ही सुबह आठ बजे से शाम सात बजे तक खुले रहेंगे। साप्ताहिक बंदी पूर्व में निर्धारित तिथि पर ही होगी। सिनेमा हाल, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थियेटर, आडिटोरियम व इनसे संबंधित सभी गतिविधियां अग्रिम आदेश तक बंद रहेंगी।

एसओपी के तहत कर्फ्यू 20 जुलाई की सुबह छह बजे तक लागू रहेगा। विवाह समारोह और शवयात्रा में 50 लोगों को ही शामिल होने की अनुमति रहेगी। जबकि सभी शिक्षण, प्रशिक्षण संस्थान फिलहाल बंद ही रहेंगे। ऑनलाइन कक्षाओं या डिस्टेंस लर्निंग की अनुमति होगी। कोचिंग संस्थान फिलहाल 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ही चलेंगे। किसी भी तरह की सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, शैक्षिक, सांस्कृतिक गतिविधियां फिलहाल बंद रहेंगी।

यहां रहेगी पाबंदी और यहां मिली छूट

सभी वाणिज्यिक और निजी प्रतिष्ठान साप्ताहिक बंदी को छोड़कर बाकी दिन सुबह आठ बजे से शाम सात बजे तक खुलेंगे। सिनेमा हॉल, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थियेटर, ऑडिटोरियम व इनसे संबंधित गतिविधियां अग्रिम आदेश तक बंद रहेंगी। सभी जिम 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे। वहीं, बाहरी राज्यों से आने वालों के लिए और मैदानी क्षेत्रों से पर्वतीय क्षेत्रों में जाने के लिए आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट जरूरी होगी।

पर्यटन स्थलों की भीड़ पर डीएम लेंगे निर्णय

प्रदेश के पर्यटन स्थलों पर वीकेंड पर भीड़ जुटने की खबरों को सरकार ने गंभीरता से लिया है। नई एसओपी में इसके लिए संबंधित जिलाधिकारियों को अधिकृत कर दिया गया है। इसके तहत उस पर्यटन स्थल की भौगोलिक परिस्थितियों के हिसाब से कितनी क्षमता है, कितने पर्यटक आने चाहिए, ताकि कोविड प्रोटोकॉल का पालन हो सके। इस पर डीएम फैसला लेंगे। वह जरूरत पड़ने पर प्रतिबंध भी लगा सकते हैं। नियमों का उल्लंघन करने पर संबंधित के विरुद्ध सख्ती से कार्रवाई करने के निर्देश भी डीएम को दिए गए हैं।

खेल विभाग जारी करेगा अलग एसओपी

राज्य में स्थित खेल संस्थान, स्टेडियम एवं खेल के मैदान 18 वर्ष से ऊपर वाले खिलाड़ियों के प्रशिक्षण के लिए 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोले जाएंगे। खेल संस्थान, स्टेडियम एवं खेल के मैदान को कोविड प्रोटोकॉल के साथ खोलने के उपयुक्त मानक प्रचलन विधि (एसओपी) खेल विभाग द्वारा अपने स्तर से जारी की जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.