इस संकट ने हमारे सिस्टम की कमियां उजागर कर दी – स्वरा भास्कर

न्यूज़ डेस्क। कोरोना वायरस संकट के समय सोनू सूद ने प्रवासी मजदूरों को अपने घर पहुंचाकर खूब सराहना पाई। उन्होंने न केवल 45 हजार से ज्यादा प्रवासियों के भोजन की व्यवस्था की बल्कि उनके लिए बसों की भी व्यवस्था की। उन्होंने प्रवासियों के लिए टोल-फ्री हेल्प साइन सेटअप की ताकि उन्हें आसानी से मदद मिल सके। सोनू सूद से प्रेरणा लेकर स्वरा भास्कर भी मैदान में उतर गई है और प्रवासियों की मदद कर रही है।एक्ट्रेस ने कहा कि उसे शर्म आने लगी कि वह घर में आराम से बैठी है और हजारों मजदूर संघर्ष कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘जब लाखों लोग बाहर सड़कों पर हैं, संघर्ष कर रहे हैं, तो मुझे घर पर बैठे-बैठे शर्म महसूस हुई। इस संकट ने हमारे सिस्टम की कमियां उजागर कर दी।’ उन्होंने एक तस्वीर भी शेयर की जिसमें वह 500 जोड़ी जूते प्रवासियों को उपलब्ध करा रही हैं।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने बताया कि 583 प्रवासी मजदूरों को माइग्रेंट स्पेशल ट्रेन में उनके राज्य भेजा गया। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘आज 583 और नाम भेजे श्रमिक साथियों के ताकि श्रमिक स्पेशल ट्रेन की लिस्ट में उनके भी नाम शामिल हों! कुछ 16 लोग जो बच गए थे उनके लिए भी रेक्वेस्ट की है! हमारे पास आए कुल 1350 श्रमिकों को इस हफ़्ते 23 मई से टिकट मिलने शुरू हो गए हैं!

Leave A Reply

Your email address will not be published.