धोनी की तरह जमीन पर लेट जाता था सुशांत : अरुण

डिजिटल डेस्क। महेंद्र सिंह धोनी के करीबी दोस्त अरुण पांडे ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत फिल्म एमएस धोनी अनटोल्ड स्टोरी के लिए काफी सीरियस रहा करते थे। अरुण इस फिल्म के को-प्रोड्यूसर भी थे। उन्होंने बताया- सुशांत कहता था कि फिल्म में यदि अच्छा काम नहीं कर पाया, तो धोनी के फैन्स उसे कभी माफ नहीं करेंगे।

34 साल के सुशांत ने रविवार सुबह बांद्रा स्थित अपने फ्लैट में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। इस पर सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, वीरेंद्र सहवाग समेत कई खेल दिग्गजों ने दुख जताया है।

‘फिल्म रिलीज से पहले भी टेंशन में था सुशांत’
अरुण ने कहा, ‘‘वह (सुशांत) धोनी के जीवन को स्क्रीन पर सही से उतार पाएगा या नहीं, इसको लेकर वह हमेशा चिंतित रहता था। फिल्म रिलीज (2016) से पहले भी वह टेंशन में ही था। वह मुझसे कहता था कि उम्मीद करता हूं कि मैं अच्छा करूंगा, वरना माही के लाखों फैन्स मुझे कभी माफ नहीं करेंगे। लेकिन मुझे उस पर विश्वास था और उसने अच्छा काम भी किया।’’

‘मांसपेशियों में खिंचाव के बाद भी प्रैक्टिस करता रहा सुशांत’
को-प्रोड्यूसर अरुण ने कहा, ‘‘हेलिकॉप्टर शॉट की उसने काफी प्रैक्टिस की थी। एक दिन उसकी मांसपेशियों में खिंचाव आ गया था। हमें लगा आराम करेगा, लेकिन वह जुटा रहा। वह नहीं चाहता था कि उसके कारण फिल्म में देरी हो।’’

‘धोनी की तरह जमीन पर लेट जाता था सुशांत’
पांडे ने कहा, ‘‘छोटी-छोटी चीजों में अंतर न आए, इसलिए वह माही से काफी सवाल पूछता था। दोनों बिहार से ही थे, इसलिए तालमेल भी शानदार था। मैं, माही और सुशांत दिल्ली में धोनी के एयर इंडिया वाले मकान में गए थे। माही घर में जहां बैठते थे और खाना खाते थे, किरदार में ढलने के लिए सुशांत भी उनकी तरह वैसा ही करते थे। घर में एक जगह ऐसी थी, जहां धोनी जमीन पर लेट जाते थे। सुशांत ने भी वैसा ही किया। धोनी के किरदार को निभाने के लिए वे खुद को खुशनसीब मानते थे। मैंने कभी नहीं सोचा था कि वह ऐसा कुछ करेगा, वह इतना जिंदादिल था।’’

Leave A Reply

Your email address will not be published.