ग्रीष्मकालीन राजधानी के बिल पर सहमति मात्र कोरोना संक्रमण से जनता का ध्यान भटकाने वाला शिगूफा : धस्माना

देहरादून। उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने राज्य सरकार की संस्तुति पर राज्यपाल द्वारा गैरसैंण को प्रदेश की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने के बिल पर सहमति प्रदान करने पर कहा कि यह मात्र कोरोना संक्रमण से जनता का ध्यान भटकाने वाला शिगूफा है। आज कांग्रेस मुख्यालय में पत्रकारों से इस विषय पर बातचीत करते हुए उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह पहले ही इस विषय पर पार्टी का स्टैंड साफ कर चुके हैं। उन्‍होंने कहा कि पहले तो त्रिवेंद्र सरकार यह बताए कि राज्य की स्थायी राजधानी कौन सी है और फिर यह स्पष्ट कर कि क्या एक राज्य में दो अस्थायी राजधानियां होना उचित हैं। उन्होंने कहा कि गैरसैण के साथ उत्तराखंड के तीनों संभागों कुमाऊं गढ़वाल व तराई सब की भावना जुड़ी हुई है और उत्तराखंड आंदोलन में गैरसैण एक एकता व सर्वसम्मति का केंद्र था। इसीलिए 2012 में सरकार में आने के बाद कांग्रेस ने गैरसैण में पहले तंबू में कैबिनेट व विधानसभा सत्र फिर शिलान्यास और तत्पश्चात विधानभवन व सचिवालय और तमाम अवस्थापना के काम करवाये। उन्‍होंने कहा कि बीजेपी सरकार जनता के सामने यह स्पष्ट करे कि पिछले तीन वर्षों में क्या एक ईंट भी इस सरकार ने लगवाई? उन्होंने कहा कि गैरसैण में जो काम कंग्रेस ने शुरू किया था उसे अंजाम तक भी कांग्रेस ही पहुंचाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.