उत्तराखंड में कोरोना से राहत, लगातार तीसरे दिन नहीं हुई किसी भी कोरोना संक्रमित मरीज की मृत्यु, जानिए शुक्रवार का कोरोना अपडेट

देहरादून : उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 65 संक्रमित मिले हैं। वहीं प्रदेश में लगातार तीसरे दिन एक भी संक्रमित मरीज की मौत नहीं हुई है। जबकि 184 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया। वहीं, सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 1319 पहुंच गई है।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, शुक्रवार को 24363 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। चंपावत और पौड़ी जिले में एक भी संक्रमित मरीज सामने नहीं आया है। वहीं, अल्मोड़ा में सात, बागेश्वर में दो , चमोली में तीन, देहरादून में 13, हरिद्वार में 11, नैनीताल में 10, पिथौरागढ़ में छह, रुद्रप्रयाग में चार, टिहरी में एक, ऊधमसिंह नगर में सात और उत्तरकाशी में एक मामला सामने आया है।

प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 341088 हो गई है। इनमें से 326451 लोग ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के चलते अब तक कुल 7338 लोगों की जान जा चुकी है।

आशा कार्यकर्ताओं ने टीकाकरण में निभाई अहम भूमिका

आशा कार्यकर्ता गांवों में लोगों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित कर रही हैं। इसी का परिणाम है कि रुद्रप्रयाग के दूरस्थ तोषी, गौंडार, चिलौंड, ब्यूंखी समेत अन्य गांवों में दोनों आयुवर्ग में कोरोना टीकाकरण (पहली डोज) शत-प्रतिशत हो चुका है।

मद्महेश्वर घाटी की आशा फैसीलेटर भरोसी देवी ने बताया कि उनके पास 17 ग्राम पंचायतें हैं। इनमें कोरोना टीकाकरण शत-प्रतिशत हो चुका है। अब केवल गर्भवती व बीमार लोग ही छूटे हुए हैं। वहीं गौंडार, रांसी, उनियाणा, राऊलेंक समेत अन्य गांवों में 45 वर्ष से अधिक उम्र के साथ युवाओं का वैक्सीनेशन भी पूरा हो चुका है।

कालीमठ घाटी के ब्यूंखी, चौमासी, चिलौंड, जाल तल्ला व मल्ला में भी दोनों आयुवर्ग को पहला टीका लग चुका है। केदारघाटी व तुंगनाथ घाटी सहित उप तहसील बुसकेदार के गांवों में भी 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीका लग चुका है। प्रधान संगठन के ब्लॉक अध्यक्ष सुभाष रावत, संरक्षक संदीप पुष्पवाण का कहना है कि टीकाकरण अभियान सफल बनाने में आशा कार्यकर्ताओं की भूमिका अहम रही है।

विषम भौगोलिक परिस्थितियों वाले क्षेत्रों में रहते हुए भी आशा कार्यकर्ता कोरोना टीकाकरण को शत-प्रतिशत सफल बनाने में अहम भूमिका निभा रही हैं। अभियान पूरा होने के बाद विभागीय स्तर पर आशा को पुरस्कृत किया जाएगा।
– डॉ. बीके शुक्ला, सीएमओ, रुद्रप्रयाग।

Leave A Reply

Your email address will not be published.