हिमालया वैलनेस कंपनी ने औषधियों के गुणों से युक्त बेबी मसाज ऑयल किया लॉन्च

हिमालया वैलनेस कंपनी ने औषधियों के गुणों से युक्त बेबी मसाज ऑयल किया लॉन्च

देहरादून। भारत के अग्रणी वैलनेस ब्रांड, हिमालया वैलनेस कंपनी ने हाल ही में हिमालया बेबी मसाज ऑयल के लॉन्च की घोषणा की, जो सरसों के गुणों से युक्त है। यह ऑयल चुनिंदा औषधियों और सामग्री से बनाया गया है, जो चिपचिपाहटरहित फॉर्मूला के साथ शिशु की स्किन को पोषण प्रदान करती हैं। इसके अलावा ये मॉईस्चर को शिशु की स्किन में लॉक कर देती हैं, जिससे स्किन नरम और मुलायम बनी रहती है।

चार औषधियों एलोवेरा, वेटिवर, विंटर चेरी और कंट्री मैलो के गुणों को जब एक पारंपरिक ऑयल में मिलाया जाता है, तो वो खून का सर्कुलेशन बढ़ाते हैं, पेशियों को आराम देते हैं, और शिशु की वृद्धि में मदद करते हैं। हिमालया के बेबी मसाज ऑयल में पारंपरिक ज्ञान और आधुनिक विज्ञान का बेहतरीन मिश्रण है, और यह क्लिनिकली टेस्टेड है। इसे बनाने में पैराबंस, मिनरल ऑयल, और सिंथेटिक खुशबू का उपयोग नहीं किया गया है, जिसके कारण यह नवजात शिशुओं के लिए एक सुरक्षित स्किनकेयर उत्पाद है।

इस लॉन्च के बारे में चक्रवर्ती एन.वी बिजनेस हेड बेबीकेयर, हिमालया वैलनेस कंपनी ने कहा कि बेबी मसाज ऑयल की हिमालया इंडियन हैरिटेज सीरीज सदियों पुरानी पारंपरिक आयुर्वेदिक विधियों से प्रेरित है, जो आपके शिशु की दिनचर्या में बॉडी मसाज (अभ्यंगा) के महत्व पर बल देती हैं।

इसके अलावा, मिलेनियल अभिभावक अपने शिशुओं के लिए सामग्री और उत्पादों के इस्तेमाल को लेकर ज्यादा सतर्क व जागरुक हो रहे हैं। वो अपने शिशुओं को सही पोषण देने के साथ कैमिकल के मामले में सुरक्षित उत्पाद तलाशते हैं।

इसलिए हमारा मानना है कि नया बेबी मसाज ऑयल दृ सरसों आज के अभिभावकों को बहुत पसंद आएगा। इस नए ऑयल के लॉन्च के साथ हम अभिभावकों को ऑल-इन-वन समाधान प्रदान करना चाहते हैं, जिसमें उन्हें अपने शिशुओं के लिए एक साफ-सुथरा अवक्षेप रहित विकल्प मिले।

उन्होंने आगे कहा पिछले 16 सालों से ज्यादा समय से हमने 14 से ज्यादा बेबीकेयर उत्पादों का एक पोर्टफोलियो बनाया है और हम पूरे भारत में एक मिलियन से ज्यादा ग्राहकों तक पहुँच चुके हैं। इन नए लॉन्च के साथ हम भारत में अपनी पहुँच का विस्तार करना और देश में अपनी स्थिति को मजबूत करना चाहते हैं।’’

डॉ. प्रतिभा बैबशेट आयुर्वेद विशेषज्ञ आरएंडडी हिमालया वैलनेस कंपनी ने कहा कि शुद्ध सरसों के बीजों के साथ सरसों में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं, जो स्किन को आम संक्रमणों और एलर्जी से बचाते हैं। सरसों का तेल पारंपरिक रूप से खुजली को दूर कर स्किन की समस्याओं से बचाता है।

शुद्ध सरसों ऑयल से नियमित मालिश नवजात शिशुओं की स्किन की शक्ति बढ़ाती है। साथ ही, ओलीव ऑयल और एलो वेरा स्किन को पोषण प्रदान कर मुलायम बनाते हैं और नमी प्रदान करते हैं। वेटिवर ठंडक देकर आराम प्रदान करता है। इसके अलावा, विंटर चौरी और कंट्री मैलो जैसी औषधियाँ पेशियों की टोनिंग में सुधार लाकर पेशियों को शक्ति प्रदान करती हैं।

Share this story