टेस्ट में देखने को मिल सकता है कोरोना वायरस सब्स्टीट्यूट

डिजिटल डेस्क। कोरोनावायरस के बीच इंग्लैंड में जुलाई से इंटरनेशनल क्रिकेट पटरी पर लौटने वाला है। इस दौरान फैन्स को नए नियम के तहत टेस्ट में कोरोनावायरस सब्स्टीट्यूट देखने को मिल सकता है। इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) इस सब्स्टीट्यूट नियम के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) से बात कर रहा है।

इंग्लिश टीम को अपने घर में वेस्टइंडीज और पाकिस्तान से जुलाई टेस्ट सीरीज खेलना है। विंडीज और पाकिस्तान बोर्ड ने भी जैव वातावरण में सीरीज खेलने के लिए अनुमति दे दी है।

टेस्ट क्रिकेट में ही यह नियम लागू होगा
ईसीबी के डायरेक्टर ऑफ इवेंट्स स्टीव एलवर्दी के हवाले से ब्रिटिश मीडिया में लिखा गया है कि ईसीसी को उम्मीद है कि आईसीसी इसको लेकर राजी हो जाएगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यदि यह नियम सिर्फ टेस्ट क्रिकेट में ही लागू होगा। हालांकि, रिपोर्ट्स में यह स्पष्ट नहीं है कि यह नियम किस तरह काम करेगा।

कन्कशन सब्स्टीट्यूट पिछले साल ही लागू हुआ
नियमानुसार वर्तमान में किसी एक खिलाड़ी के चोटिल होने पर कन्कशन के तौर पर एक ही खिलाड़ी को मैच में खेलने की अनुमति होती है। अन्य खिलाड़ी चोटिल या बीमार होता है, तो सब्स्टीट्यूट के तौर पर उतरने वाला फील्डर बल्लेबाजी या गेंदबाजी नहीं कर सकता है।

कन्कशन सब्स्टिट्यूट नियम पिछले साल अगस्त में हुई एशेज सीरीज से लागू हुआ था। इस नियम के मुताबिक, बल्लेबाज के चोटिल होने पर दूसरा बल्लेबाज ही जगह ले सकता है, कोई गेंदबाज नहीं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.