कविता : ना कोरोना

भारत न करे चीन ने वो काम किया है ।
विश्व को- रोना पैगाम दिया है ।।

अपने ही वुहान में बनाया है इक हब ।
फिर उसे ही कोरोना का नाम दिया है ।
विश्व को कोरोना पैगाम दिया है ।।

अपने ही करता रहा, अपनों पर परिक्षण ।
सबको मौत का अंजाम दिया है ।
विश्व को कोरोना पैगाम दिया है ।।

सबको हिला दिया है जिसने एक बार में ।
न तलवार, न खंजर से काम लिया है ।
विश्व को कोरोना पैगाम दिया है ।।

हर देश में कोरोना को अंजाम दिया है ।
WHO ने उसका दामन थाम लिया है ।।

भारतीय संस्कृति ने अपना गान किया है ।
प्राचीन आर्यावर्त का सम्मान किया है ।
विश्व की कोरोना से लड़ाई आसान किया है ।।

मौदी ने संकल्प- संयम का महामंत्र दिया है ।
भारत को ‘विश्व गुरु’ का नाम दिया है ।।

 

© डॉ मीरा त्रिपाठी पांडेय
मुंबई, महाराष्ट्र

Leave A Reply

Your email address will not be published.