कविता : व्यक्तिवाद ने किया बर्बाद

गरीब-अमीर,वंचित-शोषित,
सबको प्यारा अपना संविधान।
जिसे बनाने के लिए दिया था,
बाबा साहब ने अपना अहम योगदान।
उसी से मिली हमें लोकतांत्रिक प्रणाली,
जो भारत को बनाता दुनिया में महान।
सबसे पुरानी गणतांत्रिक प्रणाली में,
भारत की वैशाली को अपनी पहचान।
दुनिया के एक-एक लोग जानते हैं,
लोकतांत्रिक प्रणाली में लोग प्रधान।
समाजवादी,पंथनिरपेक्ष,लोकतांत्रिक प्रणाली,
भारतीय संविधान की अनोखी पहचान।
मौलिक अधिकार,नीति निर्देशक तत्व,
भारतीय संविधान की असली ताकत-प्राण।
लोकतंत्र को व्यक्तिवाद बर्बाद कर रहा है,
जिसका समाजवाद ने हमेशा बढ़ाया शान।
पांच वर्ष पर संविधान के रक्षक चुनती है,
लोकतांत्रिक भारत की जनता महान।
जो संवैधानिक प्रावधानों से छेड़छाड़ करते,
जनता उन्हें हटाती पकड़ करके गिरेबान।
लोकतांत्रिक प्रणाली में सबसे ऊपर संविधान,
भारतवासी बहुत अदब से करते उसका सम्मान।

– गोपेंद्र कु सिन्हा गौतम
सामाजिक और राजनीतिक चिंतक
देवदत्तपुर दाऊदनगर औरंगाबाद बिहार
9507341433

Leave A Reply

Your email address will not be published.