उत्तराखंड में जनता हुई लापरवाह, जगह-जगह उमड़ रही भीड़ से बढ़ी संक्रमण की आशंका, जानिए आज का ताजा कोरोना और ब्लैक फंगस अपडेट

देहरादून : उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 109 नए मामले सामने आए हैं। वहीं दो मरीजों की मौत हुई है। इसके अलावा आज 108 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया। वहीं, एक्टिव केस की संख्या घटकर 1900 से कम हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, शुक्रवार को 21082 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं, अल्मोड़ा में दो, बागेश्वर में एक, चमोली में चार, चंपावत में एक, देहरादून में 49, हरिद्वार में नौ, नैनीताल में 13, पौड़ी में तीन, पिथौरागढ़ में 12, रुद्रप्रयाग में दो, टिहरी में दो, ऊधमसिंह नगर में पांच और उत्तरकाशी में छह मामले सामने आए हैं।

प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या तीन लाख 40 हजार 488 हो गई है। इनमें से तीन लाख 25 हजार 361 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 1864 पहुंच गई है। प्रदेश में कोरोना के चलते अब तक कुल 7327 लोगों की जान जा चुकी है।

ब्लैक फंगस मरीजों का आंकड़ा पांच सौ पार

प्रदेश में शुक्रवार को ब्लैक फंगस के तीन नए मरीज मिले और एक की मौत हुई है। कुल मरीजों का आंकड़ा 500 के पार हो गया है। जबकि 99 मरीजों की मौत हो चुकी है। हेल्थ बुलेटिन के अनुसार देहरादून जिले में तीन नए मरीजों में ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई है। जिन्हें उपचार के लिए एम्स ऋषिकेश में भर्ती किया गया। वहीं, एम्स में एक मरीज ने इलाज के दौरान मौत हुई है। प्रदेश में ब्लैक फंगस मरीजों का आंकड़ा 502 पहुंच गया है, जिसमें 242 मरीज दूसरे राज्यों से हैं। मरने वालों की संख्या 99 हो गई है। जबकि 103 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।

संक्रमण का खतरा टला नहीं, लोग हुए लापरवाह

कोरोना संक्रमण कम जरूर हुआ है, लेकिन खतरा अभी नहीं टला है। बाजारों और गंगा घाटों पर उमड़ रही भीड़ से संक्रमण की आशंका बढ़ गई है। लोग शारीरिक दूरी का पालन नहीं कर रहे। अधिकांश लोगों ने मास्क पहना भी छोड़ दिया है। हर रोज बढ़ती भीड़ को पुलिस भी नियंत्रित नहीं कर पा रही है। बॉर्डर पर बिना कोविड आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट की जांच के ही बाहरी राज्यों से यात्री पहुंच रहे हैं।

कोरोना की दूसरी लहर कम होने के बाद प्रदेश सरकार ने कोविड कर्फ्यू में ढील दी है। अब बाजार सप्ताह में छह दिन खुल रहे हैं। बाहरी प्रदेशों से भी से बड़ी संख्या में लोग यहां पहुंच रहे हैं। हरकी पैड़ी के साथ ही प्रमुख गंगा घाटों पर सुबह से शाम तक बड़ी संख्या में लोग घूमते नजर आते हैं।

गंगा आरती में भी खूब भीड़ उमड़ रही है। सहालग सीजन होने से काफी संख्या में लोग बाजार पहुंच रहे हैं। बाजारों और गंगा घाटों की रौनक के बीच कोविड संक्रमण का खतरा भी बढ़ रहा है। मास्क नहीं पहनने पर पुलिस के टोकने पर लोग गर्मी में पसीना आने और कोई दम घुटने का बहाना बना रहा है।

धर्मनगरी में अचानक भीड़ का दबाव बढ़ा है। हरकी पैड़ी से लेकर बाजारों में लोग लापरवाही कर रहे हैं। पुलिस की ओर से यात्रियों को शारीरिक दूरी और मास्क पहनने की अपील की जा रही है। हरकी पैड़ी और बाजार क्षेत्रों में चेकिंग अभियान भी चलाया जा रहा है। लोगों को पुलिस की डर नहीं बल्कि अपनी और अपनों की सुरक्षा के लिए कोविड नियमों का पालन करने की जरूरत है।
– सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस, एसएसपी

Leave A Reply

Your email address will not be published.