अब इस अभिनेत्री ने उठायी नेपोटिज्म के खिलाफ आवाज

डिजिटल डेस्क। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही पूरी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में हलचल मच गई है। जहां कई लोगों पर नेपोटिज्म तो कुछ पर कैंप चलाने के आरोप हैं। इस बारे में बात करते हुए बिग बॉस 11 की विनर रह चुकीं शिल्पा शिंदे ने भी अपनी आपबीती शेयर की है।

हाल ही में आई रिपोर्ट के अनुसार शिल्पा ने बताया कि सिर्फ बॉलीवुड इंडस्ट्री में ही नहीं बल्कि हर फील्ड में नेपोटिज्म है। उनका मानना है कि एक्टर का बेटा एक्टर और डॉक्टर का बेटा तो डॉक्टर ही बनेगा। शिल्पा के लिए नेपोटिज्म का मुद्दा बेबुनियाद है मगर इंडस्ट्री में भेदभाव होने की बात से वो पूरी तरह ताल्लुक रखती है।

इंडस्ट्री में हो रहे भेदभाव पर शिल्पा ने कहा, मैं खुद इसका एक बेहतरीन उदाहरण हूं। लोग आपस में कहते थे कि मेरे साथ काम मत करो। प्रोडक्शन हाउसेज और चैनल्स ने मुझे 2 सालों तक बैन किया था। मुझे लगातार नोटिस आते थे कि मेरे वजह से प्रोड्यूसर्स का नुकसान हो रहा है जिसकी भरपाई मुझे करनी होगी। भाबीजी घर पर हैं शो के दौरान जो भी हुआ उससे मैं बहुत परेशान थी।

कोई मेरी परेशानी नहीं समझ पायाः शिल्पा

रिपोर्ट में शिल्पा शिंदे ने कहा, मैंने इस दौरान सिरदर्द की 3 से 4 गोलियां खाई थीं जिसके कारण में 9 घंटे सोती रही। मैं अपने घर में छिपकर बैठ जाती थी। शो के प्रोड्यूसर्स ने बहुत तमाशे किए थे। मैं बहुत परेशान थी मगर कोई इसे नहीं समझ पाया।

शिल्पा शिंदे ने पॉपुलर कॉमेडी ड्रामा शो से खूब फेम हासिल किया था। मगर उन्हें इस शो से ये बोलकर निकाला गया कि वो सेट पर काफी ड्रामा करती थीं और लगातार फीस बढ़ाने की मांग कर रही थीं। वहीं दूसरी तरफ शिल्पा ने भी शो के प्रोड्यूसर्स पर कई संगीन आरोप लगाए थे। एक लंबे विवाद के बाद शिल्पा को सिने आर्टिस्ट एसोसिएशन द्वारा दो सालों तक बैन कर दिया गया। इसके बाद एक्ट्रेस बिग बॉस 11 की विजेता भी रहीं। इसके बाद से अब तक शिल्पा किसी भी शो का हिस्सा नहीं बनीं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.