नासा की अंतरिक्ष यात्री का कारनामा, चैलेंजर डीप की सतह को छुआ

वॉशिंगटन। अमेरिका की 68 साल की डॉ. कैथी सुलिवान दुनिया की पहली ऐसी महिला बन गई हैं, जिन्होंने न केवल अंतरिक्ष में चहल-कदमी की, बल्कि समुद्र के सबसे गहरे स्थल मारियाना ट्रेंच में 35 हजार 810 फुट नीचे चैलेंजर डीप की सतह को भी छुआ है। उन्होंने यह कारनामा इयोस एक्सपेडिशंस नामक लॉजिस्टिक कंपनी के साथ मिलकर किया।

उनके साथ विक्टर एल वेस्कोवो भी गए थे। दोनों ने चैलेंजर डीप पर करीब डेढ़ घंटा बिताया। फिर करीब 4 घंटे बाद वे वापस अपने जहाज पर पहुंचे और करीब 254 मील ऊपर इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के अंतरिक्ष यात्रियों से बात भी की। डॉ. कैथी ने रविवार को यह उपलब्धि हासिल की। मारियाना ट्रेंच गुआम से करीब 200 मील दूर है।

उपलब्धि हासिल कर डॉ. कैथी ने कहा- ‘एक अंतरिक्ष यात्री और समुद्री वैज्ञानिक होने की वजह से मेरे लिए यह जीवन का सबसे महत्वपूर्ण दिन था। जीवन में एक बार होने वाले चैलेंजर डीप को देखना और फिर इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के साथियों के साथ नोट्स की तुलना करना सचमुच नहीं भूलने वाला पल है।

समुद्र की सतह से 20 से 36 हजार फुट की गहराई पर हमने जो तस्वीरें ली हैं, वह वास्तव में अभूतपूर्व हैं। अगर आप एवरेस्ट को चैलेंजर डीप में रखते हैं, तो इसकी चाेटी समुद्र तल से एक मील से भी अधिक नीचे होगी। एवरेस्ट की चाेटी और चैलेंजर डीप के निचले हिस्से तक पहुंचना बेहद चुनाैतीपूर्ण है, क्याेंकि दाेनाें जगह हवा के दबाव में काफी अंतर हाेता है।

एक ओर समुद्र तल और दूसरी ओर एवरेस्ट की चाेटी। समुद्र तल की तुलना में एवरेस्ट की चाेटी पर हवा का दबाव 70% तक कम हाेता है। समुद्र तल में दबाव का स्तर 1013 मिलीबार हाेता है, जबकि एवरेस्ट पर यह 253 मिलीबार ही हाेता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.