स्वतंत्रता दिवस पर विशेष कविता : तिरंगा शान है
स्वतंत्रता दिवस पर विशेष कविता : तिरंगा शान है
स्वतंत्रता दिवस पर विशेष कविता : तिरंगा शान है

स्वतंत्रता दिवस पर विशेष कविता : तिरंगा शान है

आज पंद्रह अगस्त है।
मुझे भी पता है।
आपको भी।
बस करना इतना सा काम।
इस पावन पर्व पर
कई तिरंगा दिखे तो उठा लेना
गली, मोहल्ले, सड़क-चौराहे पर।
गाँव -घर, ढाणी पर
पड़े कही नजरे तो
तिरंगे को तार- तार होने मत देना
उठा लेना तिरंगें को
सीने से लगा देना।
यहीं शहीदों को
सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
यहीं तिरंगें का सच्चा सम्मान होगा
फर्ज मेरा भी है तो आपका भी है।
आओ मिलकर हम
तिरंगें को गली मोहल्लों में
सड़क-चौराहे पर
टूटने से, बिखरने से
गिरने से बचाए।
तिरंगा ही शान है।
तिरंगा ही मान है।
तिरंगा अभिमान है।
तिरंगा ही स्वाभिमान है।

गुलाब राम कुमावत *खिमेल*
प्रधानाचार्य
श्री राजाराम उच्च माध्यमिक विद्यालय
मोजियावास, सांचौर (जालौर)

Share this story