बॉडी ऑयल बनाम लोशन : जानिए इनमें से किसे स्किन केयर रूटीन में शामिल करना है सही

बॉडी ऑयल बनाम लोशन: जानिए इनमें से किसे स्किन केयर रूटीन में शामिल करना है सही

त्वचा को मॉइस्चराइज करना स्किन केयर रूटीन के सबसे महत्वपूर्ण स्टेप्स में से एक है। इसके लिए ज्यादातर लोग बॉडी ऑयल और लोशन का इस्तेमाल करते हैं। ये दोनों ही प्रोडक्ट्स त्वचा को मॉइस्चराइज कर सकते हैं, लेकिन इनमें काफी अंतर है। आइए आज जानते हैं कि बॉडी ऑयल और लोशन में क्या अंतर है और इनमें से किसे चुनना त्वचा के लिए ज्यादा बेहतर है।


बॉडी ऑयल के फायदे
बॉडी ऑयल्स त्वचा को हाइड्रेट रखते हुए इसमें प्राकृतिक नमी को लॉक कर सकते हैं। इन्हें बनाते समय कई वनस्पति तेल जैसे जोजोबा, जैतून, नारियल, आर्गन, बादाम और एवोकाडो ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है, जो त्वचा को गहराई से पोषण देने में मदद कर सकते हैं। बॉडी ऑयल्स सेल्युलाईट, स्ट्रेच मार्क्स और कई तरह के निशानों को कम करने में भी मदद कर सकते हैं। इसके साथ ही ये त्वचा को चमकदार बनाए रख सकते हैं।


लोशन से त्वचा को मिलने वाले लाभ
लोशन आवश्यक नमी के साथ-साथ त्वचा को पोषण देकर परतदार, खुजली और तंग त्वचा जैसी समस्याओं को दूर कर सकता है। बॉडी ऑयल को नहाने के बाद लगाना सबसे अच्छा माना जाता है, लेकिन लोशन को आप दिन में किसी भी समय अपनी त्वचा पर लगा सकते हैं। हाइलूरोनिक एसिड, ग्लिसरीन, एलोवेरा, विटामिन ई और सेरामाइड युक्त लोशन त्वचा का हाइड्रेशन बढ़ाने में भी मदद कर सकता है।


बॉडी ऑयल और लोशन के बीच अंतर
बॉडी ऑयल्स को बनाते समय तरह-तरह के तेल और जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल किया जाता है, जबकि लोशन बनाने के लिए पानी, तेल और क्लींजिंग तत्वों का उपयोग होता है। बॉडी ऑयल प्राकृतिक नमी को सील करने में मदद करता है और त्वचा के बाहरी हिस्से पर एक सुरक्षात्मक परत बनाता है, वहीं लोशन से त्वचा मॉइस्चराइज और मुलायम होती है। बॉडी ऑयल रूखी त्वचा के लिए बेहतरीन हैं, जबकि लोशन हर तरह की त्वचा के लिए उपयुक्त है।


दोनों में से किसका चयन करें?
बॉडी ऑयल और लोशन, दोनों को ही स्किन केयर रूटीन का हिस्सा बनाया जा सकता है। हालांकि, अगर आपकी त्वचा काफी रूखे प्रकार की है तो बॉडी ऑयल का इस्तेमाल करना ज्यादा अच्छा है, वहीं सभी तरह की त्वचा पर लोशन लगाना भी सही है। बस हमेशा अपनी त्वचा की जरूरत को ध्यान में रखकर ही किसी लोशन का चयन करें।

Share this story