खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट का मददगार हुआ गिरफ्तार

लखनऊ। उत्तरप्रदेश एटीएस ने खालिस्तानी आतंकवादियों को हथियारों की सप्लाई करने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है। रविवार को उसे हापुड़ से पकड़ा गया। आरोपी का एक साथी पहले ही एटीएस के हत्थे चढ़ चुका है। खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट के इन दोनों मददगारों से पूछताछ की जा रही है। इन्होंने पंजाब में 4 साल पहले हुई संघ नेता की हत्या के लिए 0.32 बोर की पिस्टल सप्लाई की थी।

एटीएस के अपर महानिदेशक ध्रुव कांत ठाकुर ने बताया कि आरोपी जावेद मेरठ के किठौर का रहने वाला है। पंजाब पुलिस को लंबे समय से उसकी तलाश थी। जावेद ने अगस्त 2016 में आरएसएस के उप प्रमुख रिटायर्ड ब्रिगेडियर जगदीश कुमार गगनेजा की हत्या के लिए आरोपी धर्मिंदर सिंह गुगनी को हथियार दिए थे। गुगनी खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट का सक्रिय सदस्य है, जो फिलहाल तिहाड़ जेल में बंद है।

पंजाब के गैंगस्टर सुखप्रीत सिंह को भी 50 पिस्टल दीं

एटीएस ने बताया कि गुगनी के पकड़े जाने के बाद जावेद और उसका साथी आशीष पंजाब के गैंगस्टर सुखप्रीत सिंह उर्फ बुद्धा को असलहों की तस्करी करने लगा था। जावेद ने अब तक सुखप्रीत सिंह को 50 पिस्टल की सप्लाई की है। इसके बाद एटीएस जावेद की तलाश में जुटी थी। जावेद और आशीष ने नवंबर 2019 में गुगनी के कहने पर उसके साथी को तीन पिस्टल सप्लाई की थीं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.