कोरोना के खिलाफ लड़ाई मे जापानी मॉडल सफल

बेन डूली/मकीको इनोए. कोरोनावायरस के खिलाफ जहां अमेरिका समेत दुनिया के कई ताकतवर देश बेबस नजर आ रहे हैं। वहां काम और पर्यटकों के लिए मशहूर जापान ने इस घातक वायरस के खिलाफ करीब-करीब जीत हासिल कर ली है। प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने देश में महीने भर से जारी इमरजेंसी को हटा दिया है। दुनिया के कई हिस्सों में स्वास्थ्य अधिकारी लगातार टेस्ट की रट लगाएं हुए हैं, लेकिन जापान ने केवल गंभीर रूप से बीमार मरीजों की जांच की। जबकि मेडिकल एक्सपर्ट्स ने इस तरीके को लेकर चिंता जताई थी। उनका मानना था कि इससे संक्रमण फैलेगा। हालांकि ऐसा नहीं हुआ। बड़े देशों के मुकाबले कोविड-19 के मामले में जापान में मॉर्टेलिटी रेट (मृत्युदर) काफी कम रही है। देश में अब तक 900 से कम मौतें हुईं। जबकि यूरोपीय देशों और अमेरिका में यह आंकड़ा हजारों और लाखों में है। यहां सरकार ने लोगों को कभी भी बिजनेस को बंद करने के लिए मजबूर नहीं किया। लेकिन कुछ लोगों ने यह कदम अपनी मर्जी से उठाया था। पीएम आबे कहते हैं कि अनोखे जापानी तरीके को अपनाकर हम संक्रमण की लहर को लगभग पूरी तरह खत्म करने में सक्षम हुए हैं। यह जापान मॉडल।’ हालांकि जापान की उस उपलब्धि के पीछे की वजह अब तक साफ नहीं है। आलोचकों का कहना है कि जापान ने मौत के आंकड़े कम बताए हैं। कुछ ने चेतावनी दी है कि आने वाले दिनों में संक्रमण की सेकंड वेब सरकार के खुद के बधाई के दावों को कमजोर कर सकती हैं।

कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की मदद से संक्रमण रोकने में मिली कामयाबी

टेस्टिंग के जरिए आम जनता के बीच संक्रमण रोकने के बजाय जापान सरकार ने कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग पर फोकस किया। लोगों के रोजमर्रा की जिंदगी को रोकने के बजाय यहां सरकार ने सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर लोगों जागरूक किया। सरकार के उपायों और लोगों के बदले व्यवहार के कारण यह काम संभव हुआ।

यूनिवर्सिटी ऑफ हॉन्गकॉन्ग के स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के निदेशक कीजी फुकुदा बताते हैं कि एक व्यक्ति के ऐक्शन छोटे लग सकते हैं। लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग को पूरे देश में मिलकर लागू करने का प्रयास एक ठोस कदम हो सकता है।

एपिडेमियोलॉजिस्ट के मुताबिक वायरस की टेस्टिंग जरूरी है, क्योंकि इससे अधिकारियों को पॉजिटिव लोगों को आइसोलेट करने में मदद मिलती है। इसके अलावा यह पता करने में भी मदद मिलती है कि कब स्कूल और दूसरी चीजें शुरू करनी हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.