जम्मू-कश्मीर का लापता पीएचडी स्कॉलर हुआ हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर का लापता पीएचडी स्कॉलर बासित हिलाल आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया है। कश्मीर जोन पुलिस मंगलवार को यह दावा किया। बासित पिछले हफ्ते अपने दोस्तों के साथ नारानाग, सेंट्रल कश्मीर घूमने गया था, तभी से लापता था। परिवार उसकी तलाश कर रहा था। सोमवार को उसके परिजनों ने श्रीनगर में प्रेस एनक्लेव के सामने प्रदर्शन भी किया था। उन्हें शक था कि बासित को अगवा किया गया है।

बासित के परिजन श्रीनगर में प्रदर्शन करते हुए।

परिवार के मुताबिक बासित दिल्ली में काम करता था। कोरोना संक्रमण फैलने के बाद कश्मीर आया था। उसने कश्मीर यूनिवर्सिटी से पीएचडी की है। कश्मीर जोन पुलिस के आईजी विजय कुमार ने मीडिया को बताया कि बासित हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया है।

इससे पहले सोमवार को पुलिस ने कहा था कि बासित के दोस्त नारानाग से गंगाबल लेक गए थे, लेकिन उसने वहां जाने से इनकार कर दिया था। बासित ने अपने दोस्तों से कहा था कि वह नारानाग में ही उनके आने तक इंतजार करेगा। लेकि उसके दोस्त जब नारनाग पहुंचे तो बासित वहां नहीं मिला।

पहले भी कई छात्र आतंकी संगठन में हो चुके हैं शामिल

इससे पहले भी कई रिसर्च स्कॉलर और छात्र आतंकी संगठन में हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो चुके हैं। पिछले साल दक्षिणी कश्मीर के शोपियां का एक युवक कामरान जहूर हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था। वह बीटेक का छात्र था। साल 2018 में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के एक रिसर्च स्कॉलर मन्नान वानी के हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल होने की खबर आई थी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.