संयुक्त राष्ट्र शांति सैनिकों ने डीआरसी में 2 नागरिकों की हत्या की, गुटेरेस नाराज
संयुक्त राष्ट्र शांति सैनिकों ने डीआरसी में 2 नागरिकों की हत्या की, गुटेरेस नाराज

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेस ने युगांडा की सीमा से लगे कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य (डीआरसी) के एक शहर में संयुक्त राष्ट्र के शांति सैनिकों द्वारा की गई गोलीबारी और दो निवासियों की हत्या के बाद नाराजगी व्यक्त की है। उत्तरी किवु प्रांत के कासिंडी में डीआरसी (मोनुसको) में संयुक्त राष्ट्र संगठन स्थिरीकरण मिशन के सैन्य कर्मियों ने रविवार को निवासियों पर गोलियां चला दीं। दो मौतों के अलावा, 15 अन्य घायल हो गए। डीआरसी सरकार ने शूटिंग की कड़ी निंदा की।

गुटेरेस के उप प्रवक्ता फरहान हक ने बीती देर रात एक बयान में कहा, महासचिव इस घटना में जान गंवाने और गंभीर रूप से घायल होने से दुखी और निराश हैं। इसके अलावा, गुटेरेस ने पीडि़तों के परिवारों, कांगो के लोगों और कांगो सरकार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। इसके अलावा, महासचिव ने इन घटनाओं के लिए जवाबदेही स्थापित करने की जरूरत पर बल दिया।

बयान में कहा गया है कि संयुक्त राष्ट्र ने पीडि़तों और गवाहों की भागीदारी के साथ न्यायिक कार्यवाही तत्काल शुरू करने के उद्देश्य से शांति सैनिकों के मूल देश के साथ संपर्क स्थापित किया है। डीआरओ में संयुक्त राष्ट्र महासचिव के विशेष प्रतिनिधि और मोनुस्को के प्रमुख बिंतौ कीता ने एक विज्ञप्ति में कहा कि हस्तक्षेप ब्रिगेड के कुछ सैनिकों ने ‘अस्पष्टीकृत कारणों’ से सीमा चौकी पर गोलियां चलाईं। सैनिकों के व्यवहार को ‘अकथनीय और गैर-जिम्मेदार’ बताते हुए मोनुस्को प्रमुख ने कहा कि अपराधियों की पहचान की गई और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। संयुक्त राष्ट्र के दूत ने शांति सैनिकों की राष्ट्रीयता का उल्लेख नहीं किया।

25 जुलाई से देशभर के कई शहरों में, विशेष रूप से उत्तरी किवु की राजधानी गोमा में, हजारों लोग मोनुस्को के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, जहां संयुक्त राष्ट्र मिशन के कुछ कार्यालयों में तोडफ़ोड़ की गई और प्रदर्शनकारियों द्वारा लूटपाट की गई। प्रदर्शन हिंसक हो गए, क्योंकि प्रदर्शनकारियों ने मांग की कि बढ़ती हिंसा के बीच नागरिकों की रक्षा करने में विफल रहने के लिए मोनुस्को उनके देश से बाहर निकल जाए।

कांगो सरकार के अनुसार, उत्तरी किवु में विरोध प्रदर्शन के दौरान 15 लोगों की जान चली गई थी, जिसमें बुटेम्बो शहर में मोनुस्को के एक शांति रक्षक और दो पुलिस कर्मी शामिल थे।
शांति अभियानों के लिए संयुक्त राष्ट्र के अवर महासचिव जीन-पियरे लैक्रोइक्स ने शनिवार को किंशासा में डीआरसी अध्यक्ष फेलिक्स त्सेसीकेदी से मुलाकात की और मोनुस्को और कांगो सरकार के बीच सहयोग पर चर्चा की।

लैक्रोइक्स ने कहा, हम इन गंभीर घटनाओं से सबक लेने के लिए सहमत हुए हैं, कांगो के लोगों में विश्वास बहाल करने के लिए हमारे सहयोग में आगे बढऩे के लिए संयुक्त राष्ट्र और अधिकारियों के बीच एक गहन मूल्यांकन चल रहा है।

Share this story