क्यूएस (QS) वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021 में साइटेशन पर फैकल्टी मानदंड पर आईआईटी रुड़की ने हासिल किया वैश्विक स्तर पर 20वां और आईआईटी संस्थानों के बीच पहला स्थान

रुड़की : भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) रुड़की ने आज (10 जून 2020) को प्रकाशित क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021 में साइटेशन पर फैकल्टी मानदंड पर आईआईटी संस्थानों के बीच पहला स्थान प्राप्त किया है। संस्थान ने आईआईटी के बीच इंटरनेशनल स्टूडेंट रेशियो मानदंड में भी पहला स्थान हासिल किया है। साइटेशन पर फैकल्टी के मानदंड पर सर्वोच्च अंक (92.7) के चलते दुनिया भर के शीर्ष 20 विश्वविद्यालयों की सूची में आईआईटी रुड़की ने अपना स्थान बनाया है और यह फैकल्टी द्वारा अपने संबंधित अनुसंधान क्षेत्रों में किए गए उच्च प्रभावी शोध को दर्शाता है। क्यूएस (QS) रैंकिंग में आईआईटी रुड़की को संस्थान के लिए सबसे मजबूत संकेतक के रूप ‘शोध गहनता’ में ‘सर्वोच्च’ केंद्रित ‘एतिहासिक’ पब्लिक इंस्टीट्यूशन के तौर पर में वर्गीकृत किया गया है। कुल मिलाकर, आईआईटी रुड़की ने पिछले वर्ष की तरह अपनी राष्ट्रीय और वैश्विक रैंक को बरकरार रखा है। संस्थान आईआईटी की रैंकिंग में 6वें और वैश्विक स्तर पर 383वें स्थान पर बरकरार है। आईआईटी रुड़की के निदेशक प्रो. अजीत चतुर्वेदी ने कहा कि, “साइटेशन पर फैकल्टी मानदंड पर आईआईटी संस्थानों के बीच पहला स्थान हासिल करने पर हमें खुशी है। यह समर्पण और संस्थान के फैकल्टी सदस्यों और छात्रों द्वारा शोध को सर्वोच्च प्राथमिकता दिए जाने का परिणाम है।” क्यूएस (QS) वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग को दुनिया भर के शीर्ष विश्वविद्यालयों की सबसे प्रभावशाली रैंकिंग के रूप में मान्यता दी गई है। इसके छह अलग-अलग मानदंड हैं जिन्हें परिणाम प्राप्त करने के लिए संक्षेपित किया गया है। इसमें एकेडमिक रेप्यूटेशन, इम्पलॉयर रेप्युटेशन, फैकल्टी स्टूडेंट रेशियो, साइटेशन पर फैकल्टी, इन्टरनेशनल फैकल्टी रेशियो और इंटरनेशनल स्टूडेंट रेशियो शामिल हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.