होम क्वारैंटाइन किए जा रहे मरीजों को दिया जाएगा ऑक्सीमीटर : केजरीवाल

दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि कोरोना के मरीजो में ऑक्सीजन लेवल कम होने पर परेशानी बढ़ती है, ऐसे में होम क्वारैंटाइन किए जा रहे मरीजों को ऑक्सीमीटर दिया जाएगा। वे हर एक-दो घंटे में अपनी जांच खुद करेंगे। ऑक्सीजन लेवल कम हुआ तो वे अस्पताल में फोन करेंगे और मेडिकल टीम ऑक्सीजन लेकर तत्काल उनके पास पहुंच जाएगी। मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि यहां बीते 10 दिन में टेस्टिंग तीन गुना बढ़ाई गई है। पहले रोजाना 5 हजार जांच की जा रही थीं, अब 18 हजार हो रही हैं।

गंभीर केस कम आ रहे

केजरीवाल ने कहा कि 12 जून को दिल्ली के सारे अस्पतालों में मिलाकर 5300 बेड्स भरे हुए थे। आज की डेट में 6200 बेड भरे हुए हैं। 10 दिन में सिर्फ 900 बेड भरे। इन 10 दिनों में 23000 नए मरीज आए। इनमें से केवल 900 एक्स्ट्रा बेड की जरूरत पड़ी। जितने नए केस आ रहे उनमें गंभीर केस कम हैं। अभी 7000 बेड्स खाली हैं।

चीन से दो मोर्चों पर लड़ाई
केजरीवाल ने कहा कि हमें केंद्र से पूरा सहयोग मिल रहा है। दोनों सरकार मिलकर कोरोना से लड़ रही है। यह समय लड़ाई-झगड़े का नहीं है। आज पूरा देश चीन के खिलाफ दो युद्ध लड़ रहा है। एक वायरस के खिलाफ और दूसरा बॉर्डर पर। वायरस के खिलाफ हमारे डॉक्टर नर्स लड़ रहे हैं। वहीं, बॉर्डर पर सैनिक लड़ रहे हैं। जब तक हम जितेंगे नहीं देश पीछे नहीं हटेगा।

संक्रमितों के मामले में दिल्ली अब दूसरे नंबर पर

दिल्ली में रविवार रात संक्रमितों का आंकड़ा 59746 हो गया। इस लिहाज से संक्रमितों के मामले में दिल्ली दूसरे नंबर पर पहुंच चुकी है। दिल्ली सरकार राजधानी में 30 जून तक 1 हजार एंबुलेंस तैनात करने की तैयारी में है। राज्य सरकार की कोशिश है कि हर निजी अस्पताल में 60% बेड रिजर्व रहें। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने यह बातें गृह मंत्री अमित शाह के साथ हुई बैठक में साझा की हैं। इस बैठक में उपराज्यपाल अनिल बैजल भी मौजूद थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.