एआरटी सेंटर में नहीं हुई अभी तक स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती

रुडकी। सिविल अस्पताल में एक दिसम्बर को खुले एआरटी सेंटर में अभी तक स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती नहीं हो पाई है। एआरटी सेंटर में कुर्सियों की व्यवस्था अस्पताल प्रबंधन ने कर दी। लेकिन कुर्सी पर बैठने के लिए डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मी अभी नहीं मिले हैं। रुडक़ी सिविल में एचआईवी पीडि़त मरीजों की सहूलियत के लिए एंटी रेट्रो वायरल ट्रीटमेंट (सेंटर) खोला गया था।

एक दिसम्बर को रुडक़ी विधायक प्रदीप बत्रा ने सिविल अस्पताल में बने एआरटी सेंटर का उद्घाटन किया था। एआरटी सेंटर बनने से एचआईवी पीडि़त मरीजों को अपनी जांच और इलाज के लिए देहरादून जाने से निजात मिलने की बात कही गई थी। सिविल अस्पताल में बनाए गए एआरटी सेंटर में एक डॉक्टर, एक कांउसलर, एक चीफ फार्मासिस्ट और एक डाटा एंट्री ऑपरेटर की तैनाती की जानी थी।

लेकिन एक सप्ताह से ऊपर का समय बीत जाने के बाद भी अभी तक एआरटी सेंटर में स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती नहीं की गई है। जिसके चलते वर्तमान समय में सिविल अस्पताल का एआरटी सेंटर मात्र शोपीस बनकर रह गया है। सिविल अस्पताल के प्रबंधक दिव्यांशु ने बताया कि 20 दिसम्बर तक एआरटी सेंटर में स्वास्थ्य कर्मी पहुंच जाएंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.