हेल्थ बुलेटिन : उत्तराखंड में शनिवार को कोरोना के 19 और ब्लैक फंगस का एक नया मरीज आया सामने

देहरादून : उत्तराखंड में शनिवार को कोरोना संक्रमण के 19 नए मामले सामने आए हैं। वहीं किसी मरीज की मौत नहीं हुई है। 24 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया है। फिलहाल राज्य में 396 मामले सक्रिय मामले हैं।

हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक अब राज्य में कुल कोरोना संक्रमित मरीजाें की संख्या 342572 हो गई है। जिनमें से कुल 328759 मरीज ठीक हो चुके हैं। अभी तक कुल 7370 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

इन पाचं जिलों में नहीं मिला एक भी नया मरीज

शनिवार को चंपावत, नैनीताल, पौड़ी, रुद्रप्रयाग और टिहरी जिले में एक भी कोरोना संक्रमित नहीं मिला है। वहीं अल्मोड़ा, बागेश्वर, हरिद्वार, पिथौरागढ़, और उत्तरकाशी में एक, चमोली में दो व देहरादून और ऊधमसिंह नगर जिले में छह संक्रमित मिले हैं।

ब्लैक फंगस का एक मरीज मिला

शनिवार को उत्तराखंड में ब्लैक फंगस का एक मरीज मिला है और तीन मरीज ठीक हुए हैं। अब तक राज्य में ब्लैक फंगस के कुल 573 मरीज मिले हैं और 130 मौत हो चुकी हैं। वहीं कुल 281 मरीज ठीक हो गए हैं।

रविवार को जनपद देहरादून में कोविड टीकाकरण अभियान बंद

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर रविवार को जनपद देहरादून में कोविड टीकाकरण अभियान बंद रखने का निर्णय लिया गया है। रविवार को जनपद में टीकाकरण सत्रों तथा मोबाइल टीकाकरण टीम का संचालन नहीं किया जाएगा।

सोमवार से टीकाकरण अभियान पूर्ववत संचालित किया जाएगा। सोमवार से चलने वाले अभियान में जनपद के सभी पात्र लाभार्थियों को वैक्सीन की पहली डोज लगाने की प्रक्रिया शीघ्र अति शीघ्र सम्पन्न करने का लक्ष्य रखा गया है। वहीं दिव्यांग एवं वृद्धजनों का टीकाकरण अभियान मोड पर संचालित किया जाएगा।

टीकाकरण में हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर जिला सबसे पीछे 

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए उत्तराखंड में टीकाकरण की रफ्तार बढ़ने लगी है। प्रदेश में अब तक 45 से अधिक आयु वर्ग में 80 प्रतिशत लोगों को कोविड का पहला टीका लगाया गया है। जबकि 18 से 44 आयु वर्ग में 54 प्रतिशत को पहली डोज लगाई जा चुकी है। हरिद्वार व ऊधमसिंह नगर जिला टीकाकरण में सबसे पीछे हैं।

राज्य में 16 जनवरी को कोविड टीकाकरण की शुरूआत की गई थी। 11 अगस्त तक प्रदेश में 45 प्लस में 80 प्रतिशत लोगों को पहली डोज लगाई गई। जबकि 46 प्रतिशत लोगों का टीकाकरण पूरा कर लिया गया। इसी तरह 18 से 44 आयु वर्ग में 54 प्रतिशत लोगों को पहली और 3.0 प्रतिशत को दूसरी डोज लग चुकी है।

सरकार ने 31 दिसंबर 2021 तक शत प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य रखा है। केंद्र सरकार की ओर से नियमित रूप से वैक्सीन उपलब्ध कराने से राज्य में टीकाकरण कार्य में तेजी आई है। वर्तमान में प्रदेश के पास तीन लाख से अधिक कोविड वैक्सीन का स्टॉक उपलब्ध है। जिसमें 2.54 लाख कोविशील्ड वैक्सीन की डोज है।

राज्य प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. कुलदीप मर्तोलिया ने बताया कि अल्मोड़ा, बागेश्वर, चंपावत, चमोली, पौड़ी, रुदप्रयाग व उत्तरकाशी जिले में 45 प्लस वर्ग में टीकाकरण का प्रतिशत सौ से अधिक है। जबकि अन्य जिलों की तुलना में हरिद्वार व ऊधमसिंह नगर जिला टीकाकरण में पीछे चल रहे हैं।

कोरोना जांच के पैसे लेने का विडियो वायरल

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र देवाल के प्रभारी चिकित्साधिकारी पर कोरोना एंटीजन जांच पर आठ युवाओं से साढ़े छह हजार रुपये लेने का आरोप लगा है। पैसे देने वाले एक युवक ने घटनाक्रम का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। इसके बाद यह वीडियो वायरल हो गया। मामले में डीएम ने सीएमओ चमोली को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। हालांकि, प्रभारी चिकित्साधिकारी ने आरोप को गलत बताया है।

वाण गांव निवासी विपिन ने बताया कि आठ युवाओं का चयन निम के प्रशिक्षण के लिए हुआ है। इसके लिए कोरोना एंटीजन जांच की रिपोर्ट मांगी गई थी। एंटीजन जांच के लिए वे शुक्रवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्साधिकारी के पास गए। आरोप है कि चिकित्साधिकारी ने आठों युवकों से एक-एक हजार रुपये मांगे। शनिवार को सभी युवक एंटीजन जांच के लिए अस्पताल गए और साढ़े छह हजार रुपये डॉक्टर को दिए।

विपिन ने इसका वीडियो बना लिया और उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। विपिन ने बताया कि शनिवार को आठ युवकों की एंटीजन जांच हुई। पहले डॉक्टर ने आठ हजार मांगे थे, लेकिन बाद में उन्होंने साढ़े छह हजार लिए। उन्होंने विभाग से इसकी जांच कर कार्रवाई की मांग की।

साढ़े छह हजार लेने का आरोप गलत है। मेडिकल फिटनेस के लिए एक व्यक्ति से 280 व पर्ची के 13 रुपये लिए गए। गलती से 180 रुपये ज्यादा लिए गए थे, जो लौटा दिए जाएंगे।
 – डॉ. शहजाद अली, प्रभारी चिकित्साधिकारी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र देवाल

-यह मामला मेरे संज्ञान में नहीं है। इसके बारे में जानकारी लेकर कार्रवाई की जाएगी।
– तृप्ति बहुगुणा, डीजी हेल्थ

प्रकरण मेरे संज्ञान में आया है। सीएमओ चमोली को कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।
– हिमांशु खुराना, जिलाधिकारी चमोली

Leave A Reply

Your email address will not be published.