ट्रम्प और बिडेन के कैंपेन पर हैकर्स की नजर

वॉशिंगटन। गूगल ने चेतावनी दी है कि चीन और ईरान के हैकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और पूर्व उप राष्ट्रपति जो बिडेन के कैंपेन को निशाना बना रहे हैं। इन दोनों देशों की खुफिया एजेंसियों के हैकर फिशिंग ईमेल भेज रहे हैं। उनका मकसद डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन पार्टियों के लोगों के इमेल के जानकारी चुराना है। अमेरिका में नवंबर में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होने हैं।

गूगल के थ्रेट एनालिसिस ग्रुप (टीएजी) के डायरेक्टर शेन हंटली के ट्विटर पर इसकी जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि चीन का एक हैकिंग ग्रुप बिडेन के कैंपेन को और ईरान का ग्रुप ट्रम्प के कैंपेन को फिशिंग इमेल भेजकर हैक करने की कोशिश कर रहा है। हंटली ने बताया कि चीन के हैकर ग्रुप का नाम हरीकेन पैंडा और ईरान के हैकर ग्रुप का नाम चार्मिंग किटन है।

हंटली ने कहा कि गूगल ने फेडरल लॉ एजेंसियों को जानकारी दी है। गूगल ने एक बयान में कहा, ‘‘हमने नई टेक्नोलॉजी के जरिए फिशिंग ईमेल को बहुत हद तक काबू में पाने में सफलता पाई है। ऑटोमैटिक प्रोटेक्शन, एकाउंट सिक्युरिटी और स्पेशल वार्निंग के जरिए हम जीमेल यूजर्स को सतर्क करते हैं।’’

Leave A Reply

Your email address will not be published.