आज़ादी का अमृत महोत्सव 2021

भारतीय इतिहास का यादगार, गौरवशाली दिवस।
जब देशभक्तों ने किया अंग्रेज़ो को भारत छोड़ने पर विवश॥
आज़ादी के अमृत महोत्सव का अनूठा उत्सव।
भारत माता की जय-जयकार का होगा कलरव॥
नहीं भूलेंगे स्वतन्त्रता सेनानियों का बलिदान और त्याग।
उन्होने तो किया था केवल देशभक्ति से अनुराग॥
वीरों के बलिदान का करेंगे सदैव स्मरण।
भारतमता के प्रति उनके अगाध प्रेम ने जिताया स्वतन्त्रता का रण॥
देशभक्ति के नारों से गुंजायमान होगा आसमान।
माँ भारती के सपूतो का यही है अरमान॥
माँ भारती के वीरों को करते हम बारम्बार प्रणाम।
जिन्होने दिये भारत देश को उन्नति के नित-नवीन आयाम॥
देशभक्त करते रहे अनवरत संघर्ष लगातार।
स्वतन्त्रता प्राप्ति के लिए सहते रहे सहर्ष पीड़ादायी वार॥
हम सदैव रहेंगे उनके त्याग और बलिदान के कर्जदार।
स्वतन्त्रता प्राप्ति की कड़ी में जिन्होने झेले कष्टदायी प्रहार॥
राष्ट्रीय पर्व का ऐतिहासिक दिन है 15 अगस्त।
जब देशभक्ति के आगे अंग्रेज़ो के हौसले हुए पस्त।।
विजयीविश्व तिरंगे की पताका लहराएँगे।
सौहाद्र से माँ भारती का नाम विश्व में उज्ज्वल कर जाएँगे॥
एकता और अनुशासन से करें माँ भारती की जय-जयकार॥
डॉ. रीना कहती, आओ एकसाथ राष्ट्रगान गाकर मनाएँ यह राष्ट्रीय त्यौहार।

डॉ. रीना रवि मालपानी (कवयित्री एवं लेखिका)

प्रेषक:
रवि मालपानी
सहायक लेखा अधिकारी
रक्षा मंत्रालय (वित्त)
9039551172

Leave A Reply

Your email address will not be published.