कोविड कर्फ्यू में ढील का असर : उत्तराखंड में सामने आया डेल्टा प्लस वेरिएंट का पहला मामला

ऊधमसिंह नगर (दिनेशपुर) : उत्तराखंड में ऊधमसिंह नगर जिले के दिनेशपुर में बुधवार को डेल्टा प्लस वेरिएंट का पहला केस मिला है। चाचा के घर आए लखनऊ निवासी बीटेक के छात्र में डेल्टा प्लस वेरिएंट की पुष्टि होने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम उसकी खोज में दिनेशपुर पहुंची तो पता चला कि युवक लखनऊ लौट चुका है।

यूपी के लखनऊ स्थित बलरामपुर सरकारी अस्पताल कैंपस निवासी रोहित सिंह (23) दिनेशपुर वार्ड नंबर तीन में अपने चाचा के घर आया हुआ था। उसने 29 मई को गदरपुर सीएचसी में कोरोना की जांच के लिए सैंपल दिया।

उस दौरान रैपिड एंटीजन टेस्ट में वह कारोना पॉजिटिव पाया गया। इस पर वह होम आइसोलेट रहा। आइसोलेशन की अवधि पूरा होने के बाद वह अपने घर लौट गया। प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. प्रदीप पांडे ने बताया की रोहित का आरटीपीसीआर सैंपल जांच लिए एनसीडीसी लैब दिल्ली भेजा गया था।

आसपास के 40 लोगों के सैंपल लिए

मंगलवार की देर शाम रोहित की जांच रिपोर्ट सीएमओ कार्यालय पहुंची तो उसमें डेल्टा प्लस वेरिएंट की पुष्टि हुई। बुधवार की दोपहर एसीएमओ डॉ. अविनाश खन्ना, प्रभारी चिकित्साधिकारी प्रदीप पांडे पुलिस के साथ रोहित के चाचा के घर पहुंचे।

पता चला कि वह स्वस्थ होकर लखनऊ लौट गया है। स्वास्थ्य कर्मियों ने रोहित के चाचा के परिवार के सभी लोगों के साथ आसपास के 40 लोगों के सैंपल लिए। क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन में तब्दील कर दिया। एसीएमओ डॉ. अविनाश खन्ना ने कहा कि युवक के सैंपल में डेल्टा प्लस वेरिएंट की पुष्टि हुई है लेकिन युवक पूरी तरह स्वस्थ है।

उन्होंने कहा कि डेल्टा प्लस वेरिएंट से कोरोना संक्रमण तेजी से फैलता है। इसे देखते हुए दिनेशपुर में सभी लोगों को एहतियात बरतने को कहा गया है। इधर, सीएमओ डॉ. डीएस पंचपाल ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की एक टीम को दिनेशपुर भेजा गया है। जिले में कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट का यह पहला केस है। लोगों से सतर्क रहने को कहा गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.