राजधानी दून के कई हिस्सों में पेयजल संकट

देहरादून। सुभाषनगर, क्लेमनटाउन इलाके में लगातार पानी का संकट बना हुआ है। स्थानीय निवासियों ने तीन दिन से पानी न आने की शिकायत की है। वहीं बांदल घाटी में गुरुवार सुबह हुई बारिश के बाद मटमैला पानी आने से स्रोत की सप्लाई को रोकना पड़ा। चंद्रबनी चोइला में भी लोगों को पेयजल संकट से निजात नहीं मिल पाई है।

सुभाषनगर में मोटर फूंकने के कारण पेयजल उपभोक्ता पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। स्थानीय प्रताप रोड निवासी कर्नल अनिल जोशी ने बताया कि तीन दिनों से पानी की किल्लत चल रही है। आसपास के अन्य घरों में भी लोग पानी के संकट से रुबरू हैं। जल संस्थान पित्थूवाला जोन के ईई राजेन्द्रपाल ने बताया कि मोटर फूंकने के कारण ये व्यवधान आया। मोटर ठीक कर दी गई है। इलाकों में जलापूर्ति सुचारु की जा चुकी है।

यदि कहीं दिक्कत है तो टैंकर भेजे जाएंगे। वहीं बांदल घाटी मालदेवता में जोरदार बारिश के बाद स्रोत का पानी मटमैला हो गया। जल संस्थान की 18 इंच की पानी की लाइन में इससे मटमैला पानी आने पर दिलाराम वाटर वक्स में पानी को नहर में बहाने को मजबूर होना पड़ा। रायपुर, लाडपुर के जिन घरों में सीधी बांदल लाइन की आपूर्ति होती है वहां पर लोगों को गंदे पानी की आपूर्ति का सामना करना पड़ा।

ऐसी जगह पर लोगों ने खुद के लिए टैंकर मंगवाए या जल संस्थान ने यहां टैंकर की व्यवस्था की। एई एके गुप्ता ने बताया कि दोपहर बाद स्थिति सामान्य होने पर बांदल स्रोत के पानी का इस्तेमाल हो पाया। वहीं चंद्रबनी चोइला में पेयजल आपूर्ति अभी भी प्रभावित है। जगह जगह सड़कें खुदी हैं और पानी की पुरानी लाइनें टूटी पड़ी हैं। नई लाइन का काम बरसात से पहले पूरा होना संभव नहीं लगता। इसलिए लोगों को पूरे मानसून ये दिक्कत झेलनी पड़ेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.