सभी नगर-देहात के सीओ व थाना प्रभारियों की डीआइजी ने ली बैठक

देहरादून। खनन कार्यो को लेकर डीआइजी अरुण मोहन जोशी ने सभी नगर-देहात के सीओ व थाना प्रभारियों की बैठक ली और जरूरी दिशा-निर्देश दिए। साथ ही खनन सामग्री के वाहनों के शहर में प्रवेश को लेकर समय निर्धारित किया। कहा कि इस व्यवस्था का सख्ती से पालन कराया जाए। बैठक में डीआइजी ने कहा कि सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्रों में ऐसे स्थानों को चिह्नित करेंगे, जहां राज्य सरकार की अनुमति से खनन कार्य चल रहा है। साथ ही खनन से जुड़े लोगों को सूचित करेंगे कि संबंधित वाहनों को रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक ही शहर में प्रवेश की अनुमति होगी। निर्धारित समयावधि के अलावा खनन से जुड़ा वाहन शहर में घूमता दिखाई देता है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा अवैध खनन व ओवरलोडिंग पर रोक लगाने को लेकर भी पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया। कहा कि यदि व्यक्ति बार-बार अवैध खनन में लिप्त पाया जाता है तो उसके विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाए। डीआइजी ने कहा कि सभी पट्टा धारक खनन क्षेत्र के समीप ही स्थान चिह्नित कर खनन सामग्री का भंडारण नियमानुसार सुनिश्चित करेंगे। जिन स्थानों पर जगह उपलब्ध न हो पाए उन स्थानों पर संबंधित थाना प्रभारी खनन सामग्री के वाहनों को खड़ा करने के लिए स्थान चिह्नित करेंगे। खनन संबंधी कार्रवाई की देखरेख के लिए सीओ नेहरू कॉलोनी पल्लवी त्यागी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। व्यावसायिक गतिविधियों व आवश्यक सेवाओं में सरकार द्वारा दी जा रही छूट के मद्देनजर आवाजाही बढऩे के कारण डीआइजी अरुण मोहन जोशी ने असामाजिक तत्वों के सक्रिय होने की संभावना जताई है। डीआइजी ने क्षेत्रधिकारी एसओजी तथा प्रभारी निरीक्षक एसओजी को निर्देशित किया कि पुराने सक्रिय अपराधियों की नियमित रूप से निगरानी की जाए। डीआइजी ने बताया कि नए माहौल के हिसाब से अपराधियों द्वारा अपराध करने के तरीकों में भी बदलाव हो सकता है। जिसके लिए हमें पूर्व से ही अपनी कार्ययोजना बनानी होगी। उन्होंने सीओ व प्रभारी निरीक्षक एसओजी को निर्देशित किया कि वह आसपास के जनपदों व राज्यों में वर्तमान परिस्थितियों के दृष्टिगत घटित हो रहे अपराधों पर सतर्क दृष्टि रखें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.