देहरादून बाजार पर दिखने लगा है चीन की हरकत का असर

देहरादून। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीन की सेना की नापाक हरकत से देहरादून में भी आक्रोश है। बुधवार को बाजार में भी इसका असर नजर आया। सैनिकों का हौसला बढ़ाने और चीन के विरोध में ग्राहक जहां चीनी उत्पाद खरीदने से इन्कार करते दिखे। वहीं, व्यापारियों ने भी दुकान में चीनी उत्पादों की नो एंट्री का फैसला लिया है। रायपुर रोड स्थित द हैंगर शोरूम के संचालक राहुल मखलोरा ने बताया कि लद्दाख में चीन की कायरतापूर्ण हरकत से हर किसी में रोष है। सैनिकों का हौसला बढ़ाने के लिए उन्होंने चीनी सामान की बिक्री पूरी तरह बंद कर दी है। ग्राहक भी चीनी सामान खरीदने में रुचि नहीं दिखा रहे। वहीं, राजपुर रोड स्थित प्रेगो कलेक्शन स्टोर के संचालक कमल रत्न और अंकित जुयाल ने बताया कि कुछ समय पहले सीमा पर चीनी सैनिकों की नापाक हरकतें शुरू होने के साथ ही उन्होंने चीनी उत्पादों का बहिष्कार कर दिया था। कमल और अंकित ने फैसला किया है कि भविष्य में कभी भी चीनी सामान की बिक्री नहीं करेंगे। इंदिरा मार्केट स्थित न्यू फैशन कलेक्शन के मालिक अमन बिष्ट ने बताया कि ग्राहकों ने चीनी सामान खरीदना बहुत कम कर दिया है। उन्होंने भी चीन का सामान मंगाना बंद कर दिया है। इंदिरा मार्केट में खरीदारी करने पहुंचे बसंत बाबू शर्मा भी सीमा पर चीन की घटिया हरकत से बेहद नाराज हैं। उन्होंने कहा कि जो देश हमारी सेना पर प्रहार कर रहा है, उसके द्वारा निॢमत सामान का बहिष्कार करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि अब वह कभी भी चीनी उत्पादों का इस्तेमाल नहीं करेंगे। दिलाराम बाजार में कपड़े खरीदने पहुंचे सोनू राजपूत ने कहा कि चीन हमेशा से भारत को आंखें दिखाता रहा है। भारतीय सेना बॉर्डर पर अपना काम कर रही है। हमें भी सैनिकों का हौसला बढ़ाने के लिए चीनी उत्पादों का बहिष्कार कर अपना कर्तव्य निभाना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.