दोस्त ने ही अंकित की चाकुओं से गोदकर की थी निर्मम हत्या
CRIME NEWS DEVPATH

हरिद्वार। मात्र 5000 रुपए के उधारी के लिए दोस्त ने ही अंकित की चाकुओं से गोदकर निर्मम हत्या की थी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने के साथ ही हत्या में प्रयुक्त सामान को बरामद कर आरोपी को कोर्ट में पेश किया है।

हत्याकांड का खुलासा करते हुए सीओ सदर बहादुर सिंह चौहान ने बताया कि 13 जून की रात्रि सिडकुल थाना पुलिस को लेबर चौक सिडकुल से एक युवक का खून से सना हुआ शव बरामद हुआ था। जिसकी शिनाख्त अंकित निवासी नौगांव सादात अमरोहा के रूप में हुई थी जो कि सिडकुल की एक फैक्ट्री में काम करता था। मामले में मृतक के परिजनों ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। युवक की हत्या का खुलासा करने के लिए एक पुलिस टीम का गठन किया गया था जिसमें पुलिस तभी से हत्यारोपियो की सुरागकसी के लिए प्रयास में जुटी थी।

इस दौरान थाना पुलिस को एक कामयाबी मिली जिसमें सीसीटीवी फुटेज में एक युवक दिखाई दिया जिससे पूछताछ की गई तो पहले तो उसने पुलिस को बरगलाने का प्रयास किया लेकिन जब पुलिस ने उसके साथ सख्ती पूछताछ की तो उसने सारा मामला पुलिस के सामने खोल कर रख दिया। उसने जो पुलिस को बताया यह सब हैरान कर देने वाली बात है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि मृतक अंकित उसका दोस्त था और उसने उसे 5000 उधार दिए हुए थे।

उसने बताया वह उसके पैसे वापस नहीं दे रहा था और रोजाना आजकल आजकल कर उसे डालता आ रहा था। 13 जून की रात्रि भी पैसे को लेकर उनके बीच कहासुनी हो गई जिसमें उसने अंकित की चाकुओं से गोदकर निर्मम हत्या कर दी। पुलिस ने हत्यारे का नाम सुनील मिश्रा निवासी गोला गोकर्णनाथ लखीमपूर खीरी उत्तर प्रदेश बताया है। पुलिस ने आरोपी के पास से हत्या में प्रयुक्त चाकू और टी शर्ट भी बरामद कर ली है।

हत्याकांड का खुलासा करने वाली पुलिस टीम में सिडकुल थाना प्रभारी प्रमोद उनियाल, एसएसआई शहजाद अली, उप निरीक्षक देवेंद्र चौहान, एसओजी हरिद्वार हेड कांस्टेबल सुन्दरलाल, वसीम, सिडकुल थाने के कांस्टेबल सुनील तोमर, अरविंद कुमार, कर्म सिंह शामिल रहे।

Share this story