CRIME BULLETIN-4, उत्तराखंड की छोटी से बड़ी सब क्राइम की खबरें पढ़े एक ही साथ, सिर्फ देवपथ पर...
crime news

राजकीय ठेकेदार के दो हमलावर आरोपी गिरफ्तार

बागेश्वर। राजकीय ठेकेदार के साथ मारपीट करने और लूटपाट करने वाले दो आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गए हैं, जबकि तीसरा अभी भी पुलिस की पहुंच से दूर है। तीनों घटना के बाद से फरार चल रहे थे। पुलिस अब दोनों ही आरोपियों को न्यायालय में पेश किया है। तीसरे की गिरफ्तारी के लिए दबिश जारी है। 15 दिन बाद पुलिस को सफलता मिली है। कोतवाल जगदीश ढकरियाल ने बताया कि 30 सितंबर को पीड़ित नवीन परिहार पुत्र अमर सिंह परिहार निवासी कठायतबाड़ा ने पुलिस को तहरीर सौंपी थी कि उसके साथ विनोद साही व अन्य साथियों ने उसके साथ 29 अगस्त की रात उन पर जानलेवा हमला किया। इनता ही नहीं वह लाइसेंसी पिस्टल व नगदी लूट कर भाग गए। इसके बाद पुलिस ने आईपीसी की धारा 323/324/394 में मामला दर्ज किया। 13 सितंबर को बागेश्वर कोतवाली व एसओजी की टीम ने आरोपी 34 वर्षीय विनोद साही पुत्र रतन सिंह निवासी गोलना कपकोट तथा 21 वर्षीय देवेंद्र रावत उर्फ रोहित रावत निवासी ब्लॉक, कठायतबाड़ा को ग्राम धारी के पास से गिरफ्तार किया गया। आरोपी घटना के बाद से ही फरार चल रहे थे। दोनों को बुधवार को न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय के आदेश के बाद दोनों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। मामले में तीसरा आरोपी खुशिया उर्फ कुशिया निवासी हरसील कपकोट अभी फरार चल रहा है। पुलिस गिरफ्तारी को दबिश दे रही है। पकड़ने वाली टीम में निरीक्षक इंद्रजीत, एसओजी प्रभारी एसआई कुंदन रौतेला, कांस्टेबल मनोज देवड़ी, रमेश गड़िया, राजेश भट्ट, संतोष राठौर, राजेंद्र कुमार शामिल हैं।

चोरी के सिलेंडर व बाइक संग दो गिरफ्तार

काशीपुर। चोरी के सिलेंडर और बाइक के साथ युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसका चालान कर दिया। चैती चौराहा निवासी सुशील अरोड़ा की बालाजी स्वीट हाउस से 12 सितंबर को अज्ञात युवक ने सिलेंडर और दस्तावेज चोरी कर लिये थे। बुधवार को एसआई सुरभि बौढ़ाई ने मुखबिर की सूचना पर द्रोणा सागर मंदिर के पास से एक संदिग्ध युवक को गिरफ्तार किया। जिसके कब्जे से उन्होंने एक चोरी का सिलेंडर और कुछ कागजात बरामद किए। पूछताछ में उसने अपना नाम अमित चौबे पुत्र रमेश चौबे निवासी ग्राम मनकोट, बागेश्वर बताया। उधर, आईटीआई पुलिस ने चोरी की बाइक के साथ आदर्श कुमार पुत्र कृष्ण मुरारी निवासी खड़कपुर देवीपुरा को गिरफ्तार किया। थानाध्यक्ष एके सिंह ने कहा चोरी की यह बाइक खाईखेड़ा निवासी मलकीत सिंह पुत्र बाद सिंह की है। जो छह माह पहले चोरी हुई थी।

प्रॉपर्टी डीलर पर 8लाख हड़पने का आरोप

काशीपुर। वृद्धा ने प्रॉपर्टी डीलर पर जमीन न होने के बाद भी प्लॉट की रजिस्ट्री कर आठ लाख रुपये हड़पने का आरोप लगाया है। पुलिस तहरीर के आधार पर मामले की जांच कर रही है। बुधवार को मोहल्ला पक्का कोट निवासी अमरजीत कौर ने एएसपी को तहरीर दी। कहा क्षेत्र के एक प्रॉपर्टी डीलर से जनवरी 2022 में आठ लाख रुपये में एक प्लॉट का सौदा किया। तीन मार्च 2022 को उसने प्लॉट की रजिस्ट्री करवा ली। लेकिन जब उन्होंने अपने प्लॉट की बुनियाद भरनी शुरू की तब वहां एक अन्य व्यक्ति आया और उसने प्लॉट को अपना बताया। जिसके बाद पटवारी ने शिकायत मिलने के बाद जांच की तो वह जमीन उसी व्यक्ति की निकली। तब उन्होंने प्रॉपर्टी डीलर से पूछा, तो उसने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया और इसके बराबर का प्लाट कहीं अन्य स्थान पर देने की बात कही। एएसपी चंद्रमोहन सिंह ने कहा मामले में प्रार्थना पत्र मिला है। जांच कर सत्यता पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।

आबकारी विभाग ने पकड़ा माजरीमाफी में अवैध शराब का गोदाम

देहरादून। रुड़की में जहरीली शराब से मौतों के बाद सक्रिय आबकारी विभाग ने माजरी माफी में शराब का अवैध गोदाम पकड़ा है। जिसमें करीब ढाई सौ पेटी अंग्रेजी व विदेशी शराब की बरामद हुई है। जनपदीय प्रवर्तन की ओर से सूचना के बाद ये कार्रवाई की गई। बताया जा रहा है कि करीब एक साल से ये गोदाम चल रहा था। अब विभाग इस पड़ताल में लग गया है कि आखिर इस गोदाम से कहां कहां शराब की सप्लाई की जा रही थी। आबकारी विभाग इस शराब के सेंपल लेकर जांच के लिए भी भिजवा रहा है ताकि ये भी पता चले कि कहीं यहां मिलावट के बाद तो शराब को आगे नहीं भेजा जा रहा था। क्योंकि मौके से रैपर और पैकिंग का सामान भी बरामद किया गया है। वहीं इस क्षेत्र में इतना बड़ा अवैध गोदाम मिलने के बाद थाना पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे हैं। गोदाम पकड़ने वाली टीम में आबकारी निरीक्षक रीना ,हेड कांस्टेबल राकेश नाथ,प्रीति,गोविंद,आफताब,हिशाम,नीलम,ज्योति भी शामिल रहे। सूचना के बाद मौके पर संयुक्त आबकारी आयुक्त गढ़वाल मंडल रमेश चौहान भी पहुंच गए हैं।

खरीदी गई जमीन धोखाधड़ी से बेचने का आरोप

देहरादून। एक व्यक्ति की खरीदी गई जमीन को विक्रेता के परिवार के लोगों ने फर्जीवाड़े से बेच दिया। जमीन लोक निर्माण विभाग के नाम की गई। पीड़ित ने धोखाधड़ी को लेकर तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया है। रायपुर थानाध्यक्ष मनमोहन नेगी ने बताया कि धोखाधड़ी को लेकर मोहित कुमार निवासी अपर जौलीग्रांट ने तहरीर दी। कहा कि उन्होंने बहादुर सिंह से केसरवाला में जमीन खरीदी। विवाद के चलते दाखिल खारिज उनके नाम नहीं हो पाया है। आरोप है कि बहादुर सिंह मौत के बाद इस जमीन को फर्जीवाड़े से उनके बेटे देवराज, हरिराज और पत्नी जया देवी ने लोनिवि को बेच दिया। तहरीर पर पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

चोरी की बाईक सहित दो दबोचे

हरिद्वार। बाईक चोरी के मामले में नगर कोतवाली पुलिस ने दो लोगों को चोरी की गयी बाईक सहित गिरफ्तार किया है। कोतवाली पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार शलभ मित्तल निवासी श्रवणनाथ मठ मोतीबाजार ने बाईक चोरी का मुकद्मा दर्ज कराया था। मुकद्मा दर्ज करने के बाद जांच पड़ताल में जुटी पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर हरकी पैड़ी के समीप से दीपक निवासी राजा गार्डन जगजीतपुर व रवि निवासी मिस्सरपुर को चोरी की गयी बाईक समेत गिरफ्तार कर लिया। पुलिस टीम में एचसीपी राधाकृष्ण रतूड़ी, कांस्टेबल मानसिंह व शिवशंकर शामिल रहे।

कछुआ तस्करी मामले में दो वन्य जीव तस्कर दबोचे

हरिद्वार। थाना श्यामपुर पुलिस ने कछुआ तस्करी के मामले में फरार चल रहे दो वन्य जीव तस्करों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए वन्य जीव तस्कर सपेरा बस्ती घिस्सूपुरा थाना पथरी क्षेत्र के रहने वाले हैं। श्यामपुर थानाध्यक्ष विनोद थपलियाल ने बताया कि चार दिन पूर्व पुलिस टीम ने चेकिंग के दौरान बाईक पर तस्करी के लिए ले जाए जा रहे 16 जिंदा कछुए बरामद किए थे। इस दौरान बाईक सवार दो लोग पुलिस को देखकर बाईक छोड़कर फरार हो गए थे। पुलिस ने संरक्षित वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर बरामद कछुओं को वन विभाग को सौंप दिया था। बरामद मोटर साइकिल के आधार पर जांच पड़ताल के दौरान फोजी व प्रवीण उर्फ मोरा निवासी संपेरा बस्ती घिस्सूपुरा थाना पथरी के नाम प्रकाश में आए। दोनो घटना के बाद से लगातार फरार चल रहे थे। मंगलवार की रात पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली की दोनो वन्यजीव तस्कर जंगल के रास्ते बिजनौर भागने की फिराक में है। सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस टीम ने वन विभाग श्यामपुर रेंज की टीम के साथ मंगलवार की रात्रि में दोनों को गिरफ्तार कर लिया।  पुलिस टीम में एसओ विनोद थपलियाल, एसआई चरणसिंह चौहान, कांस्टेबल अनिल व मनोज शामिल रहे।

संदिग्ध परिस्थितियों में मदरसे का छात्र लापता

रुड़की। मदरसे का छात्र संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गया। परिजनों ने अज्ञात के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज कर लिया है। परिचितों और मदरसे वालों से भी पूछताछ जारी है। गंगनहर कोतवाली को रामपुर निवासी अब्दुल समद ने तहरीर देकर बताया कि बारह सितंबर को भाई अहनान (12) मदरसे में पढ़ने गया था। लेकिन उसके बाद भाई मदरसे से पढ़कर वापस नहीं लौटा। परिजनों को चिंता सताने लगी तो उन्होंने अहनान की अपने स्तर से काफी तलाश की। मदरसे में भी जाकर जानकारी जुटाई। दोस्तों से भी अहनान के बारे में पूछताछ की, लेकिन कहीं से भी कोई ठोस जानकारी परिजनों को नहीं मिल पाई। इंस्पेक्टर ऐश्वर्य पाल ने बताया कि अज्ञात के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज कर लिया गया है।

तमंचे की सफाई के दौरान युवक को लगी गोली

रुड़की। खड़ंजा में तमंचे की सफाई के दौरान गोली चल गई। गोली एक युवक के कंधे में लगी है। परिजन उसे सीएचसी लाए, तो अस्पताल प्रबंधन ने पुलिस बुला ली। घायल युवक से पूरी घटना की जानकारी लेने के बाद पुलिस ने गांव के दूसरे युवक को तमंचे और कारतूस के साथ गिरफ्तार कर लिया है। बुधवार को खड़ंजा कुतुबपुर के कुछ लोग गांव के युवक मुनाजिब पुत्र तालिब को लेकर लक्सर सीएचसी पहुंचे। मुनाजिब के कंधे में काफी गहरा घाव था। सीएचसी के डॉक्टरों ने मुआयना किया तो पता चला कि जख्म गोली लगने से बना है। इस पर सीएचसी के डॉक्टरों ने लक्सर पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर कोतवाल यशपाल सिंह बिष्ट और एसएसआई अंकुर शर्मा सीएचसी पहुंचे और घायल मुनाजिब से इस बाबत जानकारी ली। शुरूआत में तो मुनाजिब गिरकर घायल होने की बात कहता रहा। बाद में पुलिस ने सख्ताई से पूछताछ की तो उसने बताया कि गांव में उसका दोस्त दिलशाद उर्फ दिल्लू पुत्र मुनफैत घर पर तमंचे की सफाई कर रहा था। मुनाजिब भी वहीं मौजूद था। सफाई करते समय तमंचे से अचानक फायर हो गया और गोली मुनाजिब को जा लगी। इस पर पुलिस गांव पहुंची और दबिश देकर दिलशाद को हिरासत में ले लिया। कुछ देर आनाकानी के बाद उसने भी घटना की पुष्टि की। बाद में पुलिस ने दिलशाद की निशानदेही पर उसके घर के पास के खेत से तमंचा तथा कारतूस बरामद कर लिया। बाद में पुलिस ने घटना का मुकदमा दर्ज कर दिलशाद को गिरफ्तार कर लिया। कोतवाल बिष्ट ने बताया कि दिलशाद को कोर्ट में पेश करने के बाद रुड़की जेल भेज दिया गया है। उधर, गोली से घायल मुनाजिब को भी डॉक्टरों ने हायर सेंटर रेफर कर दिया है।

चाकू और चोरी के मोबाइल संग तीन गिरफ्तार

रुड़की। लक्सर कस्बा पुलिस चौकी प्रभारी नीरज रावत मंगलवार रात सिपाही दीपक ममगाईं, मनोज डोभाल और राजेंद्र सिंह के साथ गश्त कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने चाकू लेकर घूम रहे जावेद पुत्र फुरकान और आमिर पुत्र मुराद निवासी आदर्श कालोनी लक्सर को पकड़ लिया। टीम ने आदर्श कालोनी निवासी एहसान पुत्र फुरकान को भी चोरी के मोबाइल संग पकड़ा है। पुलिस उन्हें कोर्ट में पेश कर रही है।


शांतिभंग में दो का चालान

रुड़की। पुलिस ने मारपीट के मामले में दो लोगों का शांतिभंग में चालान किया है। पुलिस को सूचना मिली कि कोतवाली क्षेत्र के टिकोला गांव में दो लोग आपस में मारपीट कर उतारू है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर विशाल और शुभम निवासी टिकोला को गिरफ्तार कर लिया।


लापता बच्चों को बरामद किया

रुड़की। इंस्पेक्टर अमरजीत सिंह ने बताया कि कस्बा निवासी महिला सीता ने पुलिस को फोन कर सूचना दी थी की उनके छोटे भाई, बहन मंगलवार दोपहर के समय खेलने के लिए निकले थे जो वापस नहीं लौटे। जिसे परिजनों को काफी चिंता हो रही हैं। सूचना मिलते ही भगवानपुर पुलिस व्हाट्सएप व अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से बच्चों की तलाश शुरू कर दी। पुलिस ने बच्चों को न्यू मार्केट में खेलते हुए बरामद कर लिया। साथ ही परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है।

दो कुंतल 11 किग्रा अवैध कुटकी के साथ दो युवक गिरफ्तार, वाहन सीज

-बरामद माल का मूल्य अंतर्राष्ट्रीय बाजार में करीब 1 करोड़ 41 लाख रुपये

श्रीनगर गढ़वाल। श्रीनगर पुलिस को कुटकी की तस्करी करने वालों को पकड़ने में बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। पुलिस ने दो कुंतल 11 किग्रा. अवैध कुटकी के साथ दो युवकों को गिरफ्तार किया है। जबकि उपयोग किए जा रहे वाहन को सीज कर दिया गया है। बरामद माल की कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में करीब 1 करोड़ 41 लाख रुपये आंकी जा रही है। एसएसपी पौड़ी ने अवैध कुटकी के साथ दो आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम को पांच हजार रुपये इनाम दिए जाने की घोषणा भी की है। पुलिस क्षेत्राधिकारी श्रीनगर श्याम दत्त नौटियाल ने बताया कि मंगलवार देर सायं को कलियासौड़ चौकी के समीप निरीक्षण के दौरान अवैध वन संपदा कुटकी के परिवहन में गिरफ्तार किए गए तस्कर उत्तर प्रदेश सहारनपुर के रहने वाले हैं। वह चमोली जिले के जोशीमठ से 211 किलोग्राम कुटकी की तस्करी कर दिल्ली ले जा रहे थे। गिरफ्तार दोनों युवकों के खिलाफ वन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। दोनों आरोपियों अंकित चौधरी पुत्र विनोद कुमार, निवासी गली न-3 चन्द्रनगर, थाना सदर बाजार, जिला सहारनपुर यूपी व गौरव कुमार पुत्र महिपाल सिंह, निवासी कृष्णा धाम कॉलोनी, हसनपुर चुंगी, थाना सदर बाजार, जिला-सहारनपुर यूपी, को न्यायालय में पेश किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि एसएसपी पौड़ी ने पुलिस टीम को पांच हजार रुपये इनाम दिए जाने की घोषणा की है। पुलिस टीम में एसएसआई संतोष पैथवाल, एसआई अजय प्रकाश भट्ट, एसआई अजय कुमार, कांस्टेबल महेंद्र सिंह, दिनेश चंद्र, मनोज कुमार, दीपक मेवाड़, हरीश, शशिभूषण, शंभू प्रसाद, राजेंद्र सिंह शामिल रहे।

पुलिस ने 25 लीटर कच्ची शराब पकड़ी

चमोली। हरिद्वार में कच्ची और अवैध शराब से 7 लोगों की मौत की घटना के बावजूद भी कच्ची और अवैध शराब का धंधा नहीं रुक रहा है। चमोली पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 25 लीटर अवैध कच्ची शराब के साथ एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर मुकदमा कायम कर दिया है। पुलिस कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार कोतवाली चमोली पुलिस ने नंदा नगर घाट में चेकिंग के दौरान मुखबिर की सूचना पर जीतेन्द्र निवासी लॉखी को 25 लीटर अवैध कच्ची शराब के साथ गिरफ्तार किया। अभियुक्त के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

उपचार के दौरान मासूम की मौत, परिजनों ने लगया डॉक्टर पर इलाज में देरी और लापरवाही बरतने का आरोप

ऋषिकेश। सरकारी अस्पताल में उपचार के दौरान सात माह की बच्ची की मौत हो गई। परिजनों ने डॉक्टर पर इलाज में देरी और लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। इस मामले में ऋषिकेश कोतवाली में प्राथमिकी दर्ज करा दी है। बच्ची की मौत से परिजनों में आक्रोश है। सरकारी अस्पताल में रोती बिलखती सीमा पत्नी राजू निवासी चंद्रेश्वरनगर ने बताया कि बीते मंगलवार की शाम उनकी सात माह की पुत्री को उल्टी और बुखार की शिकायत होने पर उसे लेकर सरकारी अस्पताल ऋषिकेश की इमरजेंसी में पहुंची। आरोप है कि इमरजेंसी में मौजूद डॉक्टर ने जांच के बगैर ही पीने की दवा थमा दी। कहा कि सुबह ओपीडी में आकर बच्चों के डॉक्टर को दिखा देना। बकौल सीमा आधी रात को बच्ची की तबीयत फिर बिगड़ गई। बुधवार सुबह करीब 7 बजे सरकारी अस्पताल पहुंचे। उस समय ओपीडी नहीं खुली थी। इमरजेंसी में गए तो वहां जवाब मिला कि आठ बजे तक बच्चों के डॉक्टर आ जाएंगे, उन्हें दिखाना थोड़ा इंतजार करो। बताया कि सुबह करीब 8:15 बजे बच्चों के डॉक्टर आए बच्ची की हालत देखकर उसे इमरजेंसी लेकर आए। लेकिन उपचार के दौरान बच्ची ने दम तोड़ दिया। बच्ची की मौत से परिजनों में आक्रोश है। उन्होंने इलाज में देरी और लापरवाही का आरोप लगाते हुए ऋषिकेश कोतवाली में प्राथमिकी दर्ज करायी है। कोतवाल रवि सैनी ने बताया कि तहरीर के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर ली है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

अवैध खनन में 7 डंपर सीज तो ओवर लोडिंग में 21 डंपर का चालान

विकासनगर। कोतवाली पुलिस ने अवैध खनन के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई की। पुलिस ने हिमाचल प्रदेश, हरियाणा से आने वाले खनन से भरे 28 डंपरों को रोककर दस्तावेज जांचे। इस दौरान सात डंपरों को अवैध खनन में सीज किया गया जबकि 21 डंपरों का चालान किया गया। हिमाचल की सीमा से लगे कुल्हाल बॉर्डर पर पुलिस की कार्रवाई के बाद खनन से भरे कई वाहन हिमाचल की सीमा से पीछे लौट गये। अवैध खनन व खनन सामग्री की ओवर लोडिंग को लेकर सोमवार रात से विकासनगर कोतवाली पुलिस का सख्त रुख है। कोतवाली पुलिस ने हिमाचल से लगी कुल्हाल बार्डर पर हिमाचल और हरियाणा से खनन सामग्री लेकर देहरादून जा रहे वाहनों को रोककर सघन चेकिंग की। चेकिंग के दौरान सात डंपरों के चालक खनन सामग्री से संबंधित वैध दस्तावेज नहीं दिखा पाये। रवन्ने की चोरी करने से खनन से भरे ये वाहन राज्य सरकार को प्रतिदिन लाखों रुपये के राजस्व का चूना लगा रहे हैं। यही नहीं इन वाहनों में खनन सामग्री निर्धारित मात्रा से ढाई तीन गुना अधिक पायी गयी। इस पर पुलिस ने सात डंपरों को सीज कर दिया है। वहीं, दो अन्य डंपरों में भी खनन सामग्री की तीन से चार गुना तक अधिक ओवर लोडिंग पाये जाने पर कोर्ट के चालान काटे गये हैं। इसके आलवा पुलिस ने 19 अन्य डंपरों का भी यातायात नियमों का पालन न करने और ओवर लोडिंग में चालान काटे हैं। कोतवाल शंकर सिंह बिष्ट का कहना है कि खनन सामग्री की ओवर लोडिंग व बिना रवन्ने के अवैध खनन के खिलाफ सख्त कार्रवाई लगातार जारी रहेगी। बताया कि रिपोर्ट बनाकर कार्रवाई की संस्तुति के साथ उच्चाधिकारियों को भेज दी है।

Share this story