कोरोना अपडेट : तीसरी लहर की आशंका के चलते सतर्कता बरत रही उत्तराखंड सरकार, फिर सामने आने लगे डेल्टा वेरियंट के मामले, जानिए ताजा कोरोना अपडेट

देहरादून : उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 28 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है। जबकि 24 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया। सक्रिय मामलों की संख्या भी 354 पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, मंगलवार को 17039 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। तीन जिलों, चंपावत, टिहरी और उत्तरकाशी में एक भी संक्रमित मरीज नहीं मिला है।

अल्मोड़ा और चमोली में तीन-तीन, बागेश्वर, हरिद्वार, पिथौरागढ़ और रुद्रप्रयाग में एक-एक, देहरादून और नैनीताल में छह-छह, पौड़ी में चार और ऊधमसिंह नगर में दो संक्रमित सामने आए हैं।प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 342976 हो गई है। इनमें से 329183 लोग ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के चलते अब तक कुल 7387 लोगों की जान जा चुकी है। इसमें छह मौतें बीते दिनों की जोड़ी गई हैं।

90947 लोगों को लगी कोविड वैक्सीन 

प्रदेश में मंगलवार को 90947 लोगों को कोविड वैक्सीन दी गई। अब तक 64 लाख 79 हजार 971 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है जबकि 20 लाख 30 हजार 39 लोगों को दोनों डोज दी जा चुकी हैं। उधर, 18 से 44 आयु वर्ग में अब तक तीन लाख 49 हजार 898 लोगों को दोनों डोज दी जा चुकी हैं।

फिर सामने आने लगे डेल्टा वेरियंट के मामले

प्रदेश में एक बार फिर डेल्टा स्वरूप के मामले सामने आने लगे हैं। पिथौरागढ़ और कोटद्वार में डेल्टा स्वरूप की पुष्टि हुई है। सरकार तीसरी लहर की आशंका के चलते सतर्कता बरत रही है। विशेषज्ञों का कहना है कि दूसरी लहर में भी काफी संख्या में डेल्टा स्वरूप ने ही कहर बरपाया था।

हरिद्वार में सितंबर में चलेगा दूसरी डोज लगाने का अभियान

हरिद्वार जिले में कोरोना संक्रमण को मात देने के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान में पहली डोज 11 लाख 90 हजार लोगों को लगाई जा चुकी है। अब जिला प्रशासन का दूसरी डोज लगाने पर फोकस है। इसके लिए ऐसे लोगों को चिह्नित कर दूसरी डोज लगवाने के लिए सितंबर में विशेष अभियान चलाया जाएगा।

कोरोना संक्रमण को मात देने के लिए जिला प्रशासन की ओर से टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। जनपद में 18 साल से ऊपर वाले 15 लाख 70 हजार लोगों को टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से अब तक 11 लाख 90 हजार लोगों को पहली डोज लगवाई जा चुकी है।

31 दिसंबर तक शत प्रतिशत लोगों का वैक्सीनेशन करने में पहली डोज के मामले में स्वास्थ्य विभाग नजदीक पहुंच रहा है, लेकिन पहली डोज लगवा चुके इन लोगों में दूसरी डोज 2 लाख 75 हजार लोगों को ही लगी है। टारगेट के अनुसार दूसरी डोज लगाने का लक्ष्य पूरा करने के लिए अब सितंबर माह में विशेष अभियान चलाया जाएगा।

विशषे अभियान में आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सामाजिक व्यक्तियों की मदद से दूसरी डोज लगवाने के लिए लोगों को चिह्नित करते हुए केंद्रों पर लाया जाएगा। एसीएमओ डॉ. अजय कुमार ने बताया कि कोविशील्ड की पहली डोज लगवाने वाले को 84 दिन और कोवैक्सीन लगवाने को 28 दिन पूरे हो गए हैं, उन्हें केंद्रों पर जाकर टीकाकरण कराने के लिए जागरूक किया जाएगा। जिससे टीकाकरण के लक्ष्य से समय से पूरा किया जा सके।

कोटद्वार में डेल्टा प्लस वेरिएंट की पुष्टि के बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

कोटद्वार में एक मरीज में कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट की पुष्टि होने के बाद कोटद्वार में स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। विभाग ने संक्रमण से बचाव को लेकर मशक्कत शुरू कर दी है। विभाग ने मरीज, उसके परिजनों, पड़ोसियों समेत 150 लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की और 15 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे हैं।

कोविड चिकित्साधिकारी डॉ. सारंग राकेश ने बताया कि दो महीने पूर्व कोटद्वार बेस अस्पताल में पहुंचे एक कोरोना मरीज का सैंपल दिल्ली भेजा गया था। सोमवार को आई रिपोर्ट में वह डेल्टा प्लस वेरिएंट पॉजिटिव पाया गया। पॉजिटिव आए व्यक्ति, उसके परिजनों के साथ करीब 15 लोगों के सैंपल लिए गए हैं।

इसके अलावा मरीज के घर के 100 मीटर के दायरे में रहने वाले 150 लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई है। सभी सैंपलों को डेल्टा प्लस वेरिएंट जांच के लिए दिल्ली भेजा जा रहा है। रिपोर्ट आने तक लोगों को अपने घर पर ही रहने और कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। सीएमओ डॉ. मनोज शर्मा ने बताया कि डेल्टा प्लस वेरिएंट कोरोना का ही एक रूप है। कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए इससे बचा जा सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.