42 लाख रुपये गबन की जांच को कमेटी गठित

नैनीताल। धौलाखेड़ा उपकेंद्र में तैनात रहे जेई भुवन भट्ट के खिलाफ 42 लाख रुपये गबन मामले की जांच के लिए ऊर्जा निगम के कुमाऊं परिक्षेत्र के मुख्य अभियंता एएस गर्ब्याल ने कमेटी गठित कर दी है। इसमें एसई आरएस गुंज्याल और सहायक लेखाधिकारी पीसी जोशी शामिल किए गए हैं। मुख्य अभियंता ने जेई भट्ट को दस दिन में सारा सामान अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड ग्रामीण अमित आनंद को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। सामान का भौतिक सत्यापन जांच कमेटी करेगी। सामान उपलब्ध होते ही कमेटी अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड को निर्देश देगी कि वह सामान को अपने चार्ज में लें। भुवन भट्ट धौलाखेड़ा 33 केवी उपकेंद्र में जेई रहे। वहां से तबादला विद्युत वितरण खंड ग्रामीण के अधिशासी अभियंता अमित आनंद ने विद्युत कार्यशाला खंड कर दिया। मगर उनके धौलाखेड़ा रहते विद्युत सामग्री की सूची उपलब्ध न कराने, एमबी पेश न करने और एकाउंट पेश नहीं करने को लेकर लंबे समय तक विवाद चला। जांच के बाद अफसरों की अनुशंसा पर विद्युत वितरण उपखंड लालकुआं के एई ने जेई भट्ट पर लालकुआं थाने में एफआईआर दर्ज करा दी। इससे ऊर्जा निगम कर्मचारी संगठनों में उबाल आ गया। संगठनों ने दो बार ऊर्जा निगम के मुख्य अभियंता कुमाऊं कार्यालय में प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपे और जेई को निर्दोष करार देते हुए फौरन सामान का चार्ज दिलवाने की मांग की।

दस दिन में सामग्री का भौतिक सत्यापन कराएं जेई

हल्द्वानी। ऊर्जा निगम मुख्य अभियंता एएस गर्ब्याल ने जेई भट्ट को निर्देश दिए हैं कि वह जांच कमेटी से दस दिन में 42 लाख की विद्युत सामग्री का भौतिक सत्यापन कराएं। भौतिक सत्यापन के बाद सभी सामग्री मिलने पर कमेटी विद्युत वितरण खंड ग्रामीण के ईई अमित आनंद को चार्ज लेने के निर्देश देगी। इसके बाद मामला समाप्त माना जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.