सावधानी ही साइबर ठगी से बचाव का सटीक जरिया : एसएसपी

साइबर ठगों से नई तकनीक से निपटेगी खाकी

अल्मोड़ा। साइबर अपराधियों पर शिकंजे को जिले की पुलिस त्वरित एक्शन के साथ ही जनजागरूकता के लिए हथियार बनाएगी। एसएसपी पंकज भट्ट ने बढ़ते मामलों के मद्देनजर साइबर सेल को अत्याधुनिक तकनीक के जरिये धरपकड़ में और तेजी लाने के निर्देश दिए। कहा कि सावधानी ही ठगी से बचाव का सटीक जरिया है।

मातहतों से कहा कि अभियान चला लोगों को जागरूक करें कि ई-बैंकिंग के लिए पुख्ता पासवर्ड का प्रयोग करें और इसे साझा न करें। पुलिस सभागार में गुरुवार को कप्तान पंकज ने जनपद की समीक्षा की। थाना व कोतवाली प्रभारियों को महिला एवं साइबर अपराध रोकने को शिकायत मिलते ही त्वरित कदम उठाने के निर्देश दिए।

सभी थाना क्षेत्रों में साइबर ठगों से निपटने को जनचेतना अभियान चलाने को भी कहा। सड़क हादसे रोकने को जिलेभर में डेंजर जोन चिह्नित कर कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। ताकि दुर्घटनाओं की पुनरावृत्ति को कम किया जा सके। कप्तान ने मादक पदार्थो की तस्करी पर प्रभावी अंकुश को गिरफ्त में आए तस्करों के नेटवर्क का पता लगा इसमें लिप्त लोगों की धरपकड़ को भी कहा।

उत्कृष्ट कार्यो पर ये सम्मानित- कोरोनाकाल में गीत व कविताएं लिख जनचेतना के लिए कप्तान पंकज ने युवा रचनाकार नीता नेगी, भावना तिवारी व कृषि विशेषज्ञ डा. राजेश को सम्मानित किया। बीती जून में मादक पदार्थो की धरपकड़ में कांस्टेबल भूपेंद्र कुमार को ‘मैन आफ द मंथ’ पुरस्कार दिया।

फ्रंटलाइन कोरोना योद्धा निरीक्षक हरेंद्र चौधरी, एसओ भतरौजखान अनीस अहमद, एसआइ अमरपाल, एलआइयू से दीपा बिष्ट, पीआरओ हेमा ऐठानी, कांस्टेबल सूरज प्रकाश, राजेश भट्ट, दिगंबरदत्त कापड़ी, हेमंत कुमार, महेंद्र गनघरिया, महेंद्र देवड़ी, त्रिलोक सिंह भी सम्मानित।

Leave A Reply

Your email address will not be published.